Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

5 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

प्रनूतन बहल ने 2019 में फिल्म ‘नोटबुक’ से बॉलीवुड डेब्यू किया था।

अभिनेता मोहनीश बहल की मानें तो उनकी बेटी प्रनूतन ने जो भी पाया है, वह अपने दम पर पाया है। बॉलीवुड में उनकी एंट्री के पीछे उनके दोस्त सलमान खान का कोई हाथ नहीं है। मोहनीश एक इंटरव्यू में बॉलीवुड में जारी नेपोटिज्म की बहस पर रिएक्शन दे रहे थे।
‘मैंने सोचा था प्रनूतन वकील बनेगी’

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, मोहनीश ने प्रनूतन को लेकर कहा, “उसने सबकुछ अपने दम पर पाया है। सलमान को तो यह तक पता नहीं था कि ऑडिशन कहां हो रहा था। जब यह फाइनल हो गया, तब उन्होंने मुझे फोन किया और पूछा, ‘मोहनीश क्या तुम श्योर हो और इसके साथ ठीक हो।’ मैंने सोचा था कि वह (प्रनूतन) वकील या कुछ और बनेगी।”

‘प्रनूतन अभी भी संघर्ष कर रही है’

मोहनीश ने आगे कहा, “दुर्भाग्य से नेपोटिज्म को स्टार किड्स तक बढ़ा दिया गया है। ज्यादा उचित शब्द यह होगा कि स्टार किड्स को विशेषाधिकार प्राप्त है। लेकिन वहीं प्रनूतन अब भी संघर्ष कर रही है। उसे दूसरी फिल्म ‘हेलमेट’ मिली, जिसकी थिएट्रिकल रिलीज अभी बाकी है। ऊपर से कोविड-19 की वजह से स्थिति डाउटफुल बनी हुई है।”

नेपोटिज्म पर और क्या बोले मोहनीश

मोहनीश ने कहा, “पूरी नेपोटिज्म बहस इस हद तक बढ़ गई है, जहां हम यह पूछ सकते हैं कि आप मरने के बाद अपनी दौलत अपने बच्चों को क्यों दोगे? मैं जिंदगीभर की पूंजी किसी ऐसे इंसान को देना चाहूंगा, जो इसे बेहतर तरीके से मैनेज कर सके या फिर अपनी प्राथमिकताओं को। अगर एक प्रोड्यूसर होने के नाते मैं अपने दोस्त के बच्चों पर इन्वेस्ट करना चाहता हूं तो यह मेरा फैसला है। मैं सरकारी पद पर नहीं हूं, जहां कहने को मुझे बेस्ट कैंडिडेट सिलेक्ट करना है, लेकिन कमिश्नर या किसी और कॉर्पोरेट बॉडी के कहने पर किसी और को प्राथमिकता दे देता हूं, जो कि नेपोटिज्म होगा।”



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *