Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एक महीने पहले

  • कॉपी लिंक

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद से ही इंडस्ट्री में ड्रग का सेवन करने वालों के नाम लगातार सामने आ रहे हैं। जांच के दौरान नारकोटिक कंट्रोल ब्यूरो ने कई सेलेब्स को घेरे में लेते हुए पूछताछ की और कई के घरो में रेड मारी। इस मामले से पहले भी कई बॉलीवुड फिल्मों में सेलेब्स और आम आदमी के ड्रग कनेक्शन की कहानियां दिखाई जा चुकी हैं। आइए जानते हैं कौन सी हैं ये फिल्में

उड़ता पंजाब

साल 2016 में रिलीज हुई फिल्म उड़ता पंजाब एक ऐसे सिंगर की कहानी है जो ड्रग का ज्यादा सेवन करते हुए आदि बन जाता है। फिल्म में दिखाया गया है कि कैसे पंजाब के नौजवान नशे की तरफ आकर्षित हो रहे हैं। फिल्म में पंजाब की कहानी दिखाए जाने पर कई पंजाबी नेताओं ने इसपर आपत्ति जताई थी। उनका आरोप था कि फिल्म में दिखाए गए कुछ दृश्य राज्य की छवि खराब कर रहे हैं। मामला बढ़ने के बाद सेंसर बोर्ड ने कुछ सीन और जगहों के नाम बदलने का आदेश दिया था।

फैशन

प्रियंका चोपड़ा, कंगना रनोट, मुग्धा गोडसे, समीर सोनी और अरबाज खान स्टारर फिल्म फैशन ग्लैमर वर्ल्ड की सच्चाई पर बनाई गई है। फिल्म में दिखाया गया है कि कैसे ड्रग एडिक्ट कंगना रनोट के बिगड़े रवैये के कारण उन्हें बड़े प्रोजेक्ट से निकाल दिया जाता है। कंगना फिल्म में सुपरमॉडल बनी हैं जो ड्रग नशे की लत के चलते पूरी तरह बरबाद हो जाती हैं। लावारिस कंगना को प्रियंका चोपड़ा अपने साथ रख लेती हैं लेकिन उनकी लत के चलते एक दिन उनके साथ दुर्घटना हो जाती है।

गो गोवा गोन

साल 2013 में रिलीज हुई फिल्म गो गोवा गोन में दिखाया गया है कि तीन दोस्त रेव पार्टी में शामिल होने के लिए एख आइसोलेटेड आइलैंड पहुंचते हैं। महंगे नशे के बाद सभी पार्टी एनीमल बेसुध हो जाते हैं और अगले दिन सबको अंदाजा होता है कि वो कई खतरनाक जोंबी से घिरे हुए हैं। धीरे-धीरे सभी जोम्बीज इंसानों पर हावी होने लगते हैं और बाद में एक अलग तरह के ड्रग से ही सभी जोम्बीज का खात्मा होता है।

कबीर सिंह

शाहिद कपूर और कियारा आडवाणी स्टारर फिल्म कबीर सिंह एक बड़ी हिट फिल्म साबित हुई थी। 2019 की फिल्म एक लवस्टोरी है। शाहिद कपूर उर्फ कबीर सिंह एक फिजिशियन हैं जो कियारा आडवाणी उर्फ प्रीति से ब्रेकअप के बाद ड्रग और नशे के आदि हो जाते हैं। कबीर नशे की लत में ही लोगों के इलाज और ऑपरेशन करते हैं। एक मरीज के निधन के बाद उनके खिलाफ इन्क्वायरी होती है और वो दोषी साबित होते हैं।

देव डी

अभय देओल स्टारर फिल्म देव डी मॉडर्न देवदास है। फिल्म में देव का किरदार निभाने वाले देव अपनी गर्लफ्रेंड से ब्रेकअप के बाद ड्रग और शराब की तरफ चल पड़ते हैं। फिल्म में अभय की एक्टिंग वाकई सराहनीय है।

देवदास

मल्टीस्टारर फिल्म देवदास अपने अलग तरह के कॉन्सेप्ट के चलते ब्लॉकबस्टर फिल्म साबित हुई थी। फिल्म में शाहरुख खान, माधुरी दीक्षित, ऐश्वर्या राय बच्चन ने लीड किरदार निभाए थे। देव, पारो को पसंद करते हैं और उससे शादी करना चाहते हैं हालांकि परिवार के दबाव के चलते ऐसा नहीं हो पाता। पारो से अलग होने के बाद देव अपने करियर को नजरअंदाज कर शराब पीना शुरू कर देते हैं। आखिर में शराब ही उनकी मौत का कारण बनती है।

कालाकांडी

साल 2017 में रिलीज हुई फिल्म कालाकांडी में सैफ अली ने एक ऐसे व्यक्ति का किरदार निभाया है जिसे पेट का कैंसर हैं। जिंदगी के कुछ ही दिन बचे होने पर सैफ ये तय करते हैं कि वो अब अपनी जिंदगी पूरी तरह से एंजॉय करेंगे। सैफ नशे करते हैं, रेव पार्टी करते हैं और घूमते हैं हालांकि आखिर में निराश ही रहते हैं।

संजू

राजकुमार हीरानी द्वारा निर्देशित की गई फिल्म संजू बॉलीवुड एक्टर संजय दत्त की बायोग्राफी है। फिल्म में दिखाया गया है कि कैसे संजय बुरी संगत के चलते ड्रग का सेवन करना शुरू कर देते हैं। ड्रग एडिक्ट संजय की जिंदगी खराब होते देख उनके माता-पिता उन्हें रिहेब सेंटर में भेजते हैं जहां से वो कई बार भागने की भी कोशिश करते हैं। बाद में मां का ख्याल करते हुए संजय नशे से छुटकारा पाते हैं।

हरे रामा हरे कृष्णा

साल 1971 की फिल्म हरे रामा हरे कृष्णा भाई बहन की कहानी है जो बचपन में बिछड़ चुके हैं। देव आनंद अपनी बहन जीनत अमान को ढूंढते हुए शहर पहुंचते हैं जहां उन्हें पता चलता है कि बहन हिप्पी कल्चर को मानने वाली एक ड्रग एडिक्ट बन चुकी है। इस फिल्म का गाना दम मारो दम बहुत फेमस हुआ था जिसके नाम पर इसकी रीमेक फिल्म दम मारो दम साल 2011 में आई थी।

चरस

1976 में रिलीज हुई फिल्म चरस में हेमा मालिनी, धर्मेंद्र, अमजद खान, अजीत खान ने लीड रोल निभाया था। फिल्म में धर्मेंद्र ने सूरज नाम के एक एनआरआई की भूमिका निभाई है जो अपना भारत में स्थित घर केयरटेकर के हवाले करके विदेश चले जाते हैं। जब सूरज वापस लौटते हैं तो उन्हें पता चलता है कि केयरटेकर (अजीत खान) उनके घर में ड्रग रैकेट चला रहा है। बाद में सूरज उन्हें पकड़वाने में पुलिस की मदद करते हैं।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *