• Hindi News
  • Entertainment
  • Bollywood
  • Chetan Bhagat Said If Deepika Padukone Has Done Wrong, Then She Must Be Punished, Who Do Not Have Any Concern With The Issues Of The Country, How Do They Call Themselves Nationalists?

ज्योति शर्मा, मुंबई3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

बॉलीवुड का ड्रग्स कनेक्शन सामने आने के बाद कई बड़े नाम इसमें फंसते नजर आ रहे हैं। जिसे लेकर मशहूर उपन्यासकार चेतन भगत का कहना है कि कुछ लोगों की वजह से बॉलीवुड का नाम जरूर खराब हो रहा है लेकिन अगर किसी ने कोई गलत काम किया है तो उसके खिलाफ एक्शन लिया जाना चाहिए और उन्हें सजा भी मिलनी चाहिए।

दैनिक भास्कर से खास बातचीत के दौरान चेतन ने कहा, ‘आखिरकार वो भी इंसान हैं और अगर वे गलती करते हैं तो उन्हें भी सजा जरूर मिलनी चाहिए। कानून से बढ़कर कुछ भी नहीं है।’

आगे उन्होंने कहा, ‘लेकिन अगर मीडिया की बात करें या फिर सोशल मीडिया पर जो लोग चीख चिल्ला रहे हैं, मुझे नहीं लगता कि उन्हें इन चीजों पर ज्यादा सोचने की जरूरत है। इसकी बजाय उन्हें देश के जो हालात हैं उस पर ध्यान देना चाहिए।’

अपने घर की आग पहले बुझाएं

चेतन के मुताबिक ‘अगर लोग देश के बड़े मुद्दों को छोड़कर बॉलीवुड और कलाकारों के जीवन में ज्यादा रुचि रखते हैं तो यह वैसी ही बात हो जाएगी कि अपने घर में आग लगी हुई है लेकिन अपने घर की आग बुझाने के बजाय लोगों के लिए दूसरे के घर में क्या चल रहा है यह देखना ज्यादा जरूरी है।’

किसी ने खुद को महान नहीं बताया

‘और अगर यह बात की जाए कि लोग उन्हें फॉलो करते हैं तो मैं उनसे जानना चाहूंगा कि क्या आपने वोट देकर उनका चुनाव किया है या फिर किसी ने कहा है यह बहुत ही ज्यादा महान इंसान है या मर्यादा पुरुषोत्तम है।’ ‘इस तरह से तो किसी ने उनके बारे में नहीं कहा है और ना ही वो अपने बारे में ऐसा कुछ कहते हैं, तो आखिर क्यों लोग इतने सदमे में हैं और उन्हें इतना बुरा भला कह रहे हैं। उन्हें जो करना था, अच्छा या बुरा उन्होंने किया।’

इन बातों पर ध्यान नहीं देना चाहिए

लेखक के अनुसार ‘बॉलीवुड कलाकारों का काम लोगों का मनोरंजन करने का है। वे लोगों का मनोरंजन करते हैं, वे कभी नहीं कहते कि हम कभी कुछ गलत नहीं करते। तो मुझे नहीं लगता कि लोगों को इन बातों पर इतना ध्यान देने की जरूरत है।

मुझे ड्रग्स से बहुत डर लगता है

उन्होंने कहा, ‘खासकर उन चैनल्स की बात करूं जो खबर की जगह आजकल मनोरंजन कर रहे हैं तो इससे ज्यादा निराशाजनक बात और क्या हो सकती है। मैं ड्रग्स के खिलाफ हूं और मुझे वैसे भी ड्रग्स से बहुत डर लगता है कि अगर मैंने कभी गलती से ले लिया और उसके कारण मेरे लिखने की कला चली गई तो मैं क्या करूंगा यही डर लगता है।’

किस मुंह से खुद को राष्ट्रवादी कहते हैं?

आखिरी में चेतन ने कहा, ‘अगर लोग दीपिका पादुकोण से पूछताछ की खबर को ज्यादा तवज्जो देते हैं और उसके बारे में ज्यादा जानने की कोशिश करते हैं कि एनसीबी ने क्या पूछताछ की और दीपिका ने क्या कहा। अगर लोगों का इंटरेस्ट इसी में है, तो वे किस हक से अपने आप को राष्ट्रवादी कहते हैं, जबकि उन्हें राष्ट्र के मुद्दों में कोई दिलचस्पी ही नहीं है?



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *