Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अंकिता तिवारी29 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

वरुण धवन और सारा अली खान की फिल्म ‘कुली नं. 1’ रिलीज हो गई है। यह फिल्म गोविंदा और करिश्मा कपूर की कल्ट क्लासिक फिल्म ‘कुली नं. 1’ का रीमेक है। दैनिक भास्कर से खास बातचीत के दौरान वरुण धवन ने कई सवालों के जवाब दिए। साथ ही फिल्म से जुड़ी कुछ खास बातें भी शेयर की।

फिल्म के रीमेक में काम करने पर खुद को कितना रिस्पांसिबल फील किया?
मैने खुद को बहुत ज्यादा रिस्पांसिबल फील किया। इस फिल्म में गोविंदा और करिश्मा की जो जोड़ी थी, वह लाजवाब थी और इस फिल्म का रीमेक बनाना अपने आप में एक चैलेंज था। सिर्फ मैने ही नहीं क्रू के हर एक मेंबर ने बहुत मेहनत की है। ये फिल्म इस मुश्किल घड़ी में सबको हंसाने आई है। ये एक मास मसाला फिल्म है।

फिल्म का रीमेक बनता है तो कंपैरिजन भी किया जाता है, उसके लिए खुद को कितना तैयार किया?
मैं मानता हूं कि कंपैरिजन तो हर जगह होता ही है और थोड़ा नहीं बहुत होता है। अगर मेरी किसी फिल्म का रीमेक बनेगा तो मैं भी तुलना करूंगा। ये फिल्म 25 साल पहले रिलीज हुई थी और आज के युवा वर्ग ने इस फिल्म को नहीं देखा है।

शूटिंग के दौरान आप का सबसे रोमांचक किस्सा और साथ ही सबसे मुश्किल हिस्सा क्या था ?
मेरे लिए सबसे रोमांचक हिस्सा फिल्म का मिथुन चक्रवर्ती जी की मिमिक्री करना था। इसके लिए में जॉनी लीवर के साथ काफी समय बिताया क्योंकि वे मिथुन दा के साथ कई फिल्में कर चुके हैं। मिथुन दा से भी मैंने फोन पर बात की साथ ही मेरे पास उनकी फिल्मों की पूरी लाइब्रेरी थी। जिन्हें देखकर मैंने उनके एक्शन करने का स्टाइल और चाल ढाल भी सीखी।

सारा के साथ केमिस्ट्री काफी पसंद की जा रही है, सेट पर किस तरह की बॉन्डिंग हुई ?
शूटिंग के दौरान हम दोनों की बॉन्डिंग काफी अच्छी हो गई। सारा बहुत फोकस के साथ काम करती हैं। मुझसे बार-बार पूछती थीं कि मैं डायलॉग अच्छा कर रही हूं ना? या सीन ठीक है ना? उस वक्त उनके अपोजिट परेश रावल और जावेद जाफरी जैसे दिग्गज कलाकार थे और वो उनके सामने अपना 100% देना चाहती थी। यही उनकी सबसे अच्छी क्वालिटी भी है और सबसे खराब क्वालिटी भी। क्योंकि वह अपने काम में मग्न हो जाती थीं।

कोरोना पॉजिटिव होने की खबर अपने परिवार को किस तरह बताई?
इस साल मार्च में हमने एक करीबी रिश्तेदार को कोविड के चलते खो दिया, तो जब मेरी कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आई और जब मेरे परिवार को पता चला तो वे सभी बहुत घबरा गए थे। मैंने उन्हें समझाया कि मैं अपना बहुत अच्छे से ख्याल रख रहा हूं। पूरे साल कोविड से बचने की कोशिश की, लेकिन साल के अंत में इसने मुझे जकड़ ही लिया। यह साल सभी के लिए बहुत दुखद रहा है। सैकड़ों लोगों ने अपने परिजनों को खो दिया। कई लोगों की नौकरियां छिन गई हैं। बहुत ही मुश्किल साल रहा है ये।

बॉलीवुड की 2021 से क्या उम्मीदें हैं ? कौनसी बड़ी फिल्में थिएटर्स में दर्शकों को वापस ला पाएंगी?
फिल्म इंडस्ट्री एक ऐसी जगह है, जिसके बिना सैकड़ों लोगों की जिंदगी अधूरी है। इससे उनकी नौकरियां जुड़ी हैं। फिर चाहे वह कोई पब्लिकेशन हाउस, जर्नलिस्ट, मीडिया, प्रोडक्शन हाउस हो, मुझे यही लगता है कि हम जैसे या उन लोगों को काम पर वापस आना चाहिए। क्योंकि हमारे अंदर स्टेमिना ज्यादा है, हम स्वस्थ हैं। मुझे लगता है कि अक्षय कुमार की सूर्यवंशी वह फिल्म साबित होगी, जो दर्शकों को थिएटर तक खींचकर लाएगी। इस फिल्म को रोहित शेट्टी ने डायरेक्ट किया है, बड़ी स्टार कास्ट है और सबसे बड़ी बात कि यह फिल्म बनकर तैयार भी है।

2020 ओटीटी का साल रहा, क्या 2021 में भी ऐसा ही ट्रेंड देखने को मिल सकता है?
देखिए कंटेंट तो बहुत आगे निकल चुका है। आज की जनरेशन फिल्मों में कंटेंट चाहती है। 2020 में जितना ओटीटी प्लेटफॉर्म का ट्रेंड चला उसकी सबसे बड़ी वजह यह भी है कि महामारी के कारण सिनेमाघरों पर ताले पड़े थे। लेकिन अब जब सिनेमाघर खुल गए हैं तो मुझे लगता है कि लोग थिएटर में बैठकर देखने का भी मजा लेंगे।

बॉलीवुड में त्योहारों पर फिल्में रिलीज करने का क्रेज है, 2020 में ऐसा कुछ नहीं हुआ, 2021 को लेकर क्या संभावनाएं हैं?
महामारी की वजह से 2020 में बहुत सारी फिल्में रिलीज नहीं हो पाई। लेकिन मैं इस बात से खुश हूं कि मैं एक हंसने -हंसाने वाली फिल्म इस क्रिसमस लेकर आ रहा हूं। जिसमें आप फुल एंटरटेनमेंट और खुश होकर कुछ समय के लिए परेशानियों से निजात भी पा सकते हैं।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *