Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

राजेश खन्ना और अमिताभ बच्चन की फिल्म ‘आनंद’ को रिलीज हुए 50 साल पूरे हो गए हैं। फिल्म 12 मार्च 1971 को रिलीज हुई थी। जब यह फिल्म बन रही थी, उस समय राजेश खन्ना बॉलीवुड में सुपरस्टार थे। अमिताभ बच्चन खुद को स्थापित करने के लिए स्ट्रगल कर रहे थे। आनंद में लीड रोल में राजेश खन्ना थे और सपोर्टिंग एक्टर अमिताभ थे। अमिताभ को इस रोल के लिए उस साल का फिल्मफेयर बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर अवॉर्ड दिया गया। फिल्म के निर्देशक ऋषिकेश मुखर्जी थे।

वो ऋषिकेश मुखर्जी जिनकी फिल्में हल्के-फुल्के अंदाज में लोगों का मनोरंजन कर देती थीं। वे आम जिंदगी से ही अपनी फिल्मों के लिए कहानियां उठाते थे। निर्देशन क्षेत्र में आने से पहले मुखर्जी प्रिंसिपल भी रह चुके थे। इसलिए क्या बोलना है, कैसे बोलना है और क्या नहीं कहना है? ये बातें भली-भांति जानते थे। कई बार वो धर्मेंद्र, अमिताभ बच्चन, राजेश खन्ना जैसे स्टार्स को किसी स्कूली बच्चे की तरह समझाते तो कभी सुना भी देते थे। नजर डालते हैं फिल्म ‘आनंद’ से जुड़े कुछ किस्सों पर…

धर्मेंद्र की वजह से पूरी रात जागे थे ऋषिकेश मुखर्जी

1971 में जब ऋषिकेश दा ‘आनंद’ फिल्म बनाने के बारे में सोच रहे थे तो सबसे पहले उन्होंने इसकी कहानी बेंगलुरु से मुंबई की हवाई यात्रा के दौरान धर्मेंद्र को सुनाई थी। धर्मेंद्र बड़े खुश हुए और उन्होंने कहा कि ये फिल्म तो मैं ही करूंगा। कुछ दिनों बाद अखबार में प्रकाशित हुआ कि फिल्म के हीरो राजेश खन्ना होंगे। फिर क्या था धर्मेन्द्र ने जमकर शराब पी और फिर देर रात ऋषिकेश दा को कॉल किया और कहा कि आप मेरे साथ ऐसा कैसे कर सकते हैं? ऋषि दा उन्हें शांति से समझाते रहे और कहते रहे कि धरम हम सुबह बात करेंगे, लेकिन धर्मेंद्र थे कि लगातार अपनी बात दोहराए जा रहे थे। ऐसा करते-करते उन्होंने रातभर ऋषिकेश दा को सोने नहीं दिया।

‘आनंद’ के लिए राजेश खन्ना ने फीस में से कम किए थे 7 लाख

राजेश खन्ना उन दिनों 8 लाख फीस लेते थे। जब उन्हें पता चला कि कई बड़े एक्टर्स के पास से ये फिल्म छूटी है तो वे उतावले होकर ऋषिकेश दा के पास पहुंचे और उनसे कहा कि मैं फिल्म करने के लिए तैयार हूं। तब ऋषिकेश दा ने उनसे कहा अगर आपको मेरे साथ काम करना है तो मेरी तीन शर्तें माननी होंगी। टाइम पर आना होगा। अधिक डेट्स देनी होंगी और तीसरी शर्त ये कि 1 लाख की फीस में ही काम करना होगा। राजेश बिना कुछ कहे उनकी सभी शर्तों पर राजी हो गए।

किशोर कुमार के गार्ड ने गेट पर रोका तो गुस्सा हो गए थे

फिल्म ‘आनंद’ में ऋषिकेश दा पहले किशोर कुमार को कास्ट करने वाले थे पर उन्हीं दिनों किशोर कुमार का एक बंगाली प्रोड्यूसर से विवाद हो गया और उन्होंने गार्ड को निर्देश दिए कि कोई बंगाली मुझसे मिलने आए तो उसे भगा देना। एक दिन ऋषिकेश दा उनके घर पहुंचे लेकिन गार्ड ने उन्हें जाने नहीं दिया। इसके बाद ऋषिकेश मुखर्जी ने किशोर कुमार के साथ फिल्म बनाने का इरादा ही छोड़ दिया।

खबरें और भी हैं…



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *