Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

17 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

‘ब्लैक फ्राइडे’ (2004), ‘सरकार राज’ (2008), ‘गुलाल’ (2009), ‘ABCD'(2013) और ‘द गाजी अटैक’ (2017) जैसी फिल्मों में नजर आए अभिनेता केके मेनन को दादा साहब फाल्के इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल अवॉर्ड्स के तहत मोस्ट वर्सटाइल एक्टर के खिताब से नवाजा गया। 54 साल के अभिनेता ने सोशल मीडिया पर इसकी जानकारी है। उन्होंने ट्रॉफी की फोटो साझा की है और दादा साहब फाल्के इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल अवॉर्ड्स के आधिकारिक सोशल मीडिया हैंडल को टैग करते हुए लिखा है, “शुक्रिया।”

मेनन ने टीवी से की थी करियर की शुरुआत

केके मेनन ने अपने करियर की शुरुआत टीवी सीरियल्स से की थी। बॉलीवुड में उनकी पहली फिल्म ‘नसीम’ (1995) थी, जिसमें उन्होंने छोटा सा रोल किया था। कुछ साल बाद ‘भोपाल एक्सप्रेस’ (1999) में वे बतौर लीड एक्टर नजर आए। हालांकि, उन्हें पहचान 2004 में रिलीज हुई ‘ब्लैक फ्राइडे’ से मिली थी। ‘हैदर’ (2014) के लिए उन्हें बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर का फिल्मफेयर अवॉर्ड मिल चुका है। आखिरी बार उन्हें 2020 में रिलीज हुई वेब सीरीज ‘स्पेशल ऑप्स’ में देखा गया था।

अवॉर्ड्स की टीम को पीएम मोदी की शुभकामनाएं

पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दादा साहब फाल्के इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल अवॉर्ड्स की टीम को शुभकामनाएं भेजी थीं। उन्होंने अपने लेटर में लिखा था, “दादासाहेब फाल्के इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल अवॉर्ड्स- 2021 के बारे में जानकर खुशी हुई है। यह अवॉर्ड दादासाहेब फाल्के की विरासत का जश्न मनाते हैं, जो सच्चे दूरदर्शी थे। जिनकी इंडियन सिनेमा की शानदार जर्नी में अग्रणी और अमिट भूमिका रही है।”

अपने लेटर में पीएम ने आगे लिखा है, “सभी विजेताओं को दिल से बधाई। उम्मीद करता हूं कि ये अवॉर्ड्स कई स्टेकहोल्डर्स को कहानी कहने की कला को ऊंचे स्तर पर ले जाने के लिए प्रेरित करेंगे। फिल्म फेस्टिवल अवॉर्ड्स-2021 की सफलता के लिए शुभकामनाएं।” दादा साहब फाल्के इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल के पांचवें एडिशन की सेरेमनी 20 फरवरी 2021 को मुंबई में होगी।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *