• Hindi News
  • Business
  • L&T Revenue Fell 12% To Rs 31 Thousand Crore, Declared Special Dividend Of Rs 18 Per Share

मुंबई9 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

सितंबर छमाही तक 51 हजार 613 करोड़ रुपए का ऑर्डर कंपनी को मिला है। ग्रुप के पास सितंबर तिमाही तक कुल 2 लाख 98 हजार 856 करोड़ रुपए का ऑर्डर बुक था

  • कुल रेवेन्यू में इंटरनेशनल बिजनेस का हिस्सा 39 पर्सेंट रहा है
  • शुद्ध लाभ एक साल पहले की तुलना में 45 पर्सेंट घटा

इंफ्रा, कंस्ट्रक्शन सहित कई सेक्टर में काम करनेवाली लॉर्सन एंड टूब्रो (L&T) का रेवेन्यू सितंबर तिमाही में 12% गिर कर 31 हजार 35 करोड़ रुपए हो गया है। हालांकि कंपनी ने कहा है कि उसके तमाम प्रोजेक्ट पर कामगारों की मौजूदगी कोविड-19 के पहले के स्तर के करीब पहुंच गई है। कंपनी ने 18 रुपए प्रति शेयर का स्पेशल डिविडेंड भी घोषित किया है।

इंटरनेशनल रेवेन्यू 12 हजार करोड़ रहा

कंपनी ने बुधवार को फाइनेंशियल रिजल्ट जारी किया। कंपनी ने कहा कि सितंबर तिमाही के दौरान उसका इंटरनेशनल रेवेन्यू 12 हजार 148 करोड़ रुपए रहा है। कुल रेवेन्यू में इसका हिस्सा 39 पर्सेंट रहा है। छमाही की बात करें तो कुल रेवेन्यू 52 हजार 295 करोड़ रुपए रहा है। इसमें सालाना आधार पर 20 पर्सेंट की गिरावट दर्ज की गई है।

शुद्ध लाभ 1,410 करोड़ रुपए रहा

कंपनी ने बताया कि इसका शुद्ध लाभ 1 हजार 410 करोड़ रुपए रहा है। एक साल पहले की समान अवधि में हुए 2 हजार 552 करोड़ रुपए की तुलना में यह 45 पर्सेंट कम है। कंपनी ने कहा कि हालांकि अगर इलेक्ट्रिकल एंड ऑटोमेशन बिजनेस को एसई फ्रांस में ट्रांसफर करने के बाद इसके ऑपरेशन को डिस्कंटीन्यू कर दिया जाए तो इसका छमाही में कुल शुद्ध लाभ 5,520 करोड़ रुपए हो जाता है।

28,039 करोड़ रुपए का मिला ऑर्डर

कंपनी ने कहा कि सितंबर तिमाही के दौरान उसे कुल 28 हजार 39 करोड़ रुपए के ऑर्डर मिले हैं। एक साल पहले की समान तिमाही की तुलना में इसमें 42 पर्सेंट की कमी आई है। छमाही की बात करें तो कुल ऑर्डर 51 हजार 613 करोड़ रुपए रहा है। ग्रुप के पास सितंबर तिमाही तक कुल 2 लाख 98 हजार 856 करोड़ रुपए का ऑर्डर बुक था।

इंफ्रा सेगमेंट में 14,552 करोड़ का ऑर्डर

कंपनी के इंफ्रा सेगमेंट के पास 14 हजार 522 करोड़ रुपए का ऑर्डर सितंबर तिमाही में मिला है। जबकि इस सेगमेंट में 2 लाख 20 हजार 430 करोड़ रुपए का ऑर्डर है। इंफ्रा सेगमेंट से कंपनी को 12 हजार 969 करोड़ रुपए का रेवेन्यू मिला है। इसके पावर सेगमेंट में सितंबर तिमाही तक 14 हजार 695 करोड़ रुपए का ऑर्डर बुक था। हैवी इंजीनियरिंग सेगमेंट के पास कुल 3,377 करोड़ रुपए का ऑर्डर बुक था।

रक्षा सेगमेंट में 9,132 करोड़ का ऑर्डर बुक रहा है। इसके अलावा आईटी, फाइनेंशियल, डेवलपमेंट प्रोजेक्ट आदि सेगमेंट में भी कंपनी के पास अच्छा ऑर्डर था।

एक्सिस बैंक को 1,683 करोड़ रुपए का फायदा

उधर दूसरी ओर निजी क्षेत्र के तीसरे सबसे बड़े बैंक एक्सिस बैंक का शुद्ध फायदा सितंबर तिमाही में 1,683 करोड़ रुपए रहा है। एक साल पहले समान तिमाही में बैंक को 112 करोड़ रुपए का फायदा हुआ था। बैंक की शुद्ध ब्याज आय (NII) इसी दौरान 20 पर्सेंट बढ़कर 7,326 करोड़ रुपए रही है। शुद्ध ब्याज मार्जिन (NIM) 3.58 पर्सेंट पर रही है।

फी इनकम 67 पर्सेंट बढ़ी

बैंक ने बताया कि इसकी फी इनकम तिमाही आधार पर 67 पर्सेंट बढ़ी जबकि सालाना आधार पर यह 4 पर्सेंट बढ़कर 2,752 करोड़ रुपए रही है। रिटेल फी इनकम 82 पर्सेंट तिमाही आधार पर बढ़ी है। कॉर्पोरेट और कमर्शियल बैंकिंग फी 46 पर्सेंट तिमाही आधार पर और 10 पर्सेंट सालाना आधार पर बढ़ी है। बैंक का ऑपरेटिंग फायदा तिमाही में 18 पर्सेंट जबकि सालाना आधार पर 16 पर्सेंट बढ़ा है। यह 6,898 करोड़ रुपए रहा है।

बैंक का ग्रॉस NPA यानी बुरा फंसा कर्ज 4.18 पर्सेंट पर रहा है। यह एक साल पहले इसी तिमाही में 5.03 पर्सेंट पर था। शुद्ध NPA 0.98 पर्सेंट रहा है जो एक साल पहले 1.99 पर्सेंट था। जून तिमाही में ग्रॉस एनपीए 4.72 और शुद्ध एनपीए 1.23 पर्सेंट रहा है।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *