• Hindi News
  • Business
  • Crisil Revises Upward GDP Contraction Estimate Said Economy May Decline By 7 Point 7 Pc In FY21

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली13 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

क्रिसिल ने इससे पहले GDP में 9% गिरावट का अनुमान दिया था

  • Q2 में उम्मीद से बेहतर रिकवरी और फेस्टिव सीजन में भी इसके जारी रहने के कारण GDP अनुमान में सुधार किया गया
  • कोरोनावायरस संक्रमण के मामले का लगातार घटना भी अनुमान सुधारने का एक अन्य कारण है

रेटिंग एजेंसी क्रिसिल ने सोमवार को इस कारोबारी साल के लिए देश की GDP विकास दर के अनुमान में सुधार किया। एजेंसी ने कहा कि इस कारोबारी साल में 7.7 फीसदी घट सकती है देश की GDP। इससे पहले दिए गए अनुमान में उसने GDP में 9 फीसदी गिरावट की बात कही थी।

एजेंसी ने सरकार की कमखर्ची को देश के विकास के लिए बाधक भी बताया। स्टैंडर्ड एंड पुअर्स की भारतीय इकाई ने कहा कि दूसरी तिमाही में उम्मीद से बेहतर रिकवरी रही। रिकवरी की यह रफ्तार फेस्टिव सीजन में भी कायम रही। मुख्य रूप से इसी वजह से एजेंसी ने GDP अनुमान में सुधार किया। कोरोनावायरस संक्रमण के मामले का लगातार घटना भी अनुमान सुधारने का एक अन्य कारण है।

महामारी के कारण GDP को 12% का परमानेंट लॉस हुआ

एजेंसी ने कहा कि कोरोनावायरस महामारी के कारण GDP को 12 फीसदी का परमानेंट लॉस हुआ। गौरतलब है कि भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने इस महीने के शुरू में कहा कि इस कारोबारी साल में GDP में 7.5 फीसदी गिरावट आ सकती है। RBI ने पहले 9.5 फीसदी गिरावट की बात कही थी। कुछ अन्य विश्लेषकों ने भी अपने अनुमान में सुधार किया है।

FY22 में 10% रहेगी विकास दर

एजेंसी ने कहा कि कोरोनावायरस संक्रमण की दूसरी लहर, वैक्सीन उपलब्धता से जुड़ी अनिश्चितता, संक्रमण की नई लहर के कारण वैश्विक आर्थिक रिकवरी में उतार-चढ़ाव जैसे फैक्टर के कारण सतर्कता बरतने की जरूरत होगी। एजेंसी ने कहा कि FY21 के निचले बेस के कारण FY22 में विकास दर 10 फीसदी रह सकती है।

सरकार और राहत पैकेज जारी कर सकती है

एजेंसी ने कहा कि सरकार और राहत पैकेज जारी कर सकती है, क्योंकि अब तक जारी हुए पैकेज से मांग में तेजी नहीं आई है। RBI के मौद्रिक कदमों सहित सरकार का कुल राहत पैकेज GDP के 15 फीसदी से कुछ ज्यादा है, लेकिन इस कारोबारी साल में सरकार का डायरेक्ट खर्च GDP के सिर्फ 2 फीसदी के बराबर है। इस कारोबारी साल की पहली तिमाही में GDP में 23.9 फीसदी और दूसरी तिमाही में 7.5 फीसदी गिरावट रही।े



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *