• Hindi News
  • Business
  • HDFC, ICICI Bank, SBI, Among Top 10 Lenders In 2020; Google Pay, PhonePe Top Wallets: Report

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली27 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

कोरोनाकाल में NBFC माइक्रो, स्मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज (MSME) को पूंजी जुटाने के लिए प्राइमरी सोर्स के तौर पर उभरी हैं।

  • SaaS स्टार्टअप विजिकी ने टॉप-100 BFSI की रिपोर्ट जारी की
  • नियो बैंकिंग में YONO ने मारी बाजी, NBFC में HDFC रही टॉपर
  • UPI पेमेंट सेगमेंट में वॉट्सऐप पेमेंट दूसरे प्लेयर्स से काफी पीछे

कैलेंडर ईयर 2020 में ग्राहकों की सेवा में HDFC बैंक, ICICI बैंक और स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) अव्वल रहे हैं। वहीं, गूगलपे और फोन टॉप वॉलेट में शामिल रहे हैं। SaaS स्टार्टअप विजिकी (Wizikey) की BFSI मूवर्स एंड शेकर्स 2020 रिपोर्ट में यह बात कही गई है। बैंकिंग, फाइनेंशियल सर्विसेज और इंश्योरेंस को BFSI कहा जाता है। इस रिपोर्ट में देश के टॉप-100 बैंक, वॉलेट, UPI, नियोबैंक्स, नॉन-बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनीज (NBFC), स्मॉल फाइनेंस बैंक्स और पेमेंट बैंक्स को शामिल किया गया है।

इंश्योरेंस कंपनियों की लोकप्रियता भी बढ़ी

विजिकी के मुताबिक, बैंकिंग कंपनियों के समान 2020 में इंश्योरेंस कंपनियों की लोकप्रियता में भी काफी इजाफा हुआ है। रिपोर्ट में कहा गया है कि महामारी के आफ्टर-इफेक्ट के कारण बीमा कंपनियों की लोकप्रियता बढ़ी है। रिपोर्ट के मुताबिक, 2020 में ग्राहकों को सेवा देने में HDFC बैंक, ICICI बैंक, SBI, यस बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, HSBC बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, ड्यूश बैंक और IDBI बैंक टॉप-10 में शामिल रहे हैं।

गूगलपे बनी नंबर वन मूवर एंड शेकर

रिपोर्ट के मुताबिक, इस साल कोरोना महामारी के कारण UPI और डिजिटल वॉलेट की लोकप्रियता भी काफी बढ़ी है। लॉकडाउन के दौरान गूगलपे नंबर वन मूवर एंड शेकर के तौर पर उभरा है। इसके बाद फोनपे का नंबर आता है। इस दौरान ICICI, HDFC और SBI भी UPI ट्रांजेक्शन के लिए ग्राहकों की पसंद के तौर पर उभरे हैं। एक्सिस बैंक और कोटक महिंद्रा बैंक ने इन तीनों बैंकों को कड़ी टक्कर दी है। वॉट्सऐप ने भी अपनी पेमेंट सेवा शुरू की है लेकिन यह अन्य प्लेयर्स से काफी पीछे रहा है।

नियो बैंकों में YONO नंबर वन रहा

रिपोर्ट में कहा गया है कि अन्य कैटेगरी की तरह इस साल नियो (Neo) बैंकिंग भी काफी ट्रेंडिंग रही है। इस सेगमेंट में YONO नंबर वन के तौर पर उभरा है। इसके बाद नियो (Niyo) और कोटक 811 का नंबर आता है। कोरोनाकाल में NBFC ने काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इस दौरान NBFC माइक्रो, स्मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज (MSME) को पूंजी जुटाने के लिए प्राइमरी सोर्स के तौर पर उभरी हैं। कोविड-19 के दौरान बैंकों ने NBFC को ज्यादा कर्ज दिया है। NBFC सेगमेंट में दीवान हाउसिंग फाइनेंस कॉरपोरेशन (HDFC) नंबर वन के तौर पर उभरी है जबकि इसकी ओवरऑल रैंक 15 रही है।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *