• Hindi News
  • Business
  • Will Take All Steps To Rectify Underlying Causes Of NSE Tech Glitch: Sebi

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई20 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • मूल कारण का पता लगाने के लिए NSE को विस्तृत विश्लेषण करने को कहा गया है
  • स्टॉक एक्सचेंज ने गड़बड़ी का ठीकरा टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर्स के सिर फोड़ा है

बुधवार को जिन वजहों से आई तकनीकी दिक्कत के चलते नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) पर कारोबार चार घंटे रुक गया, सेबी उनको दुरुस्त करने के सभी उपाय करेगा। मार्केट रेगुलेटर सेबी ने यह भी कहा है कि अगर NSE का कारोबार उसकी अपनी किसी कमी की वजह से ठप हुआ था, तो वह उसको भी दूर करने की कोशिश करेगा।

NSE ने गड़बड़ी का ठीकरा टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर्स के सिर फोड़ा

बुधवार को अचानक NSE का कारोबार ठप हो जाने से मार्केट इंटरमीडियरी और मार्केट पार्टिसिपेंट्स, सबको बहुत दिक्कत हुई थी। सेबी ने कहा है कि उसने स्टॉक एक्सचेंज को तकनीकी दिक्कत के मूल कारण का पता लगाने को विस्तृत विश्लेषण करने के लिए पहले ही कह दिया है। NSE ने गड़बड़ी का ठीकरा टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर्स के सिर फोड़ा है।

सेटलमेंट के लिए 3.30 बजे खुला एक्सचेंज 5.00 बजे तक चला

NSE ने बुधवार को मार्केट पार्टिसिपेंट्स से कहा था कि एक तकनीकी दिक्कत के चलते 11.40 बजे से उसके प्लेटफॉर्म पर ट्रेडिंग बंद हो जाएगा। स्टॉक एक्सचेंज पर दोपहर बाद 3:30 बजे ट्रेडिंग फिर शुरू हुआ। मार्केट पार्टिसिपेंट्स को अपने मौजूदा सौदे वायदा सौदों की एक्सपायरी से पहले निपटाने के लिए 5.00 बजे तक का समय दिया गया।

एक्सचेंजों से जानकारी नहीं मिलने पर परेशान हो रहे थे मार्केट पार्टिसिपेंट्स

सेबी ने अपने बयान में कहा, ‘NSE ने बताया था कि वह दिक्कत दूर करने में लगा हुआ है। दिक्कत दूर होते ही ट्रेडिंग दोबारा शुरू होने की जानकारी बाजार को दे दी जाएगी।’ लेकिन ट्रेडिंग शुरू होने के समय को लेकर स्टॉक एक्सचेंजों से जानकारी नहीं मिलने पर मार्केट पार्टिसिपेंट्स परेशान हो रहे थे।

सेबी के इंटरऑपरेबिलिटी फ्रेमवर्क से दूसरे एक्सचेंजों पर लेनदेन जारी रख सके मार्केट पार्टिसिपेंट

सेबी ने कहा, ‘यहां गौर करने वाली बात यह है कि ट्रेडिंग रुकने के बावजूद सेबी के इंटरऑपरेबिलिटी फ्रेमवर्क के चलते मार्केट पार्टिसिपेंट को दूसरे स्टॉक एक्सचेंजों पर लेनदेन जारी रखने में मदद मिली। इससे वे बेरोकटोक ट्रेड कर पाए और अपने मौजूदा सौदे निपटा सके।’

बुधवार जैसी घटना से निपटने के लिए सेबी ने बनाई है व्यापक व्यवस्था

मार्केट रेगुलेटर ने यह भी कहा कि ब्रिटेन, जापान, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में कारोबार का ऐसे ठप होना चिंता का विषय रहा है। सेबी ने कहा कि उसने बुधवार जैसी घटना से निपटने के लिए एक व्यापक व्यवस्था बनाई है। इसमें वाजिब जुर्माने के साथ ही भूल सुधार सुनिश्चित करने वाली निगरानी व्यवस्था शामिल है।

खबरें और भी हैं…



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *