• Hindi News
  • Utility
  • Mutual Fund ; Large, Multi, Small Or Mid cap Mutual Funds, Know Where To Invest Will Be Beneficial For You

नई दिल्ली6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

इक्विटी म्यूचुअल फंड में लार्ज कैप में निवेश ज्‍यादा सुरक्षित समझा जाता है। इन फंड में निवेश का पैसा बड़ी कंपनियों में लगाया जाता है

  • अपनी उम्र, रिस्क क्षमता, वित्तीय लक्ष्य, और रिटर्न उम्मीद के आधार पर ही निवेश के लिए म्यूचुअल फंड की कैटेगरी को चुनना चाहिए
  • अगर आप एक यंग निवेशक हैं और ज्यादा रिटर्न के लिए ज्यादा रिस्क ले सकते हैं तो आप स्मॉल और मिड-कैप फंड्स में निवेश कर सकते हैं

इन दिनों अगर आप म्यूचुअल फंड निवेश में करने का प्लान बना हैं, लेकिन इस बात को लेकर असमंजस में हैं कि लार्ज-कैप, मिड-कैप, मल्टी-कैप और स्मॉल-कैप में से कहां निवेश करना सही रहेगा, तो परेशान न हों। एक्सपर्ट्स मानना है कि अपनी उम्र, रिस्क क्षमता, वित्तीय लक्ष्य, और रिटर्न उम्मीद के आधार पर ही निवेश के लिए म्यूचुअल फंड की कैटेगरी को चुनना चाहिए। आज हम बता रहे हैं कि आपको किस आधार पर लार्ज-कैप, मिड-कैप, मल्टी-कैप और स्मॉल-कैप को निवेश के लिए चुन सकते हैं।

स्मॉल और मिड-कैप फंड्स में इन्वेस्टमेंट
अगर आप एक कम उम्र (यंग) के निवेशक हैं और अपने निवेश पर ज्यादा रिटर्न चाहते हैं और इसके लिए ज्यादा रिस्क ले सकते हैं तो आप टॉप-रेटेड स्मॉल और मिड-कैप फंड्स में निवेश करF सकते हैं। आप जितनी जल्दी इसमें निवेश की शुरुआत करेंगे, आपके इन्वेस्टमेंट को बढ़ने और मनचाहा नतीजा देने के लिए उतना ज्यादा समय मिलेगा। लॉन्ग-टर्म इन्वेस्टमेंट पीरियड, स्मॉल और मिड-कैप फंड्स से जुड़े रिस्क को कम करने में भी मदद करता है।

आपकी उम्र ज्यादा हो जाए तो आप अपने इन्वेस्टमेंट को धीरे-धीरे ज्यादा-रिस्की ऑप्शंस से थोड़े कम-रिस्की और स्थिर रहने वाले फंड्स में ट्रांसफर कर सकते हैं जो तब भी अच्छा रिटर्न दे सकते हैं। इसके अलावा, रिस्क को कम करने और बेहतर रिटर्न पाने के लिए अपने इन्वेस्टमेंट को अलग-अलग म्यूचुअल फंड कंपनियों, अलग-अलग एसेट क्लास और अलग-अलग शेयरों में डाइवर्सिफाई करना भी जरूरी है।

स्मॉल-कैप फंड क्या हैं?
स्मॉल-कैप म्युचुअल वैसे फंड होते हैं, जो कम मार्केट कैप वाली कंपनियों में निवेश करते हैं। शेयर बाजार में सूचीबद्ध ऐसी कंपनियों के कारोबार में वृद्धि की तेज संभावनाओं का आंकलन करने के बाद इनकी पहचान की जाती है। मार्केट कैप के लिहाज से शेयर बाजार की शीर्ष 250 कंपनियों को छोड़कर बाकी कंपनियों में स्मॉल-कैप म्युचुअल निवेश करती हैं। स्मॉल-कैप म्युचुअल अपने निवेश की रकम का 65% तक छोटी कंपनियों में लगाते हैं। इसके बाद बची 35% रकम को फंड मैनेजर मिड, लार्ज या स्मॉल-कैप कंपनियों के शेयरों में लगाते हैं।

निवेश करने के लिए टॉप स्मॉलकैप फंड

फंड का नाम 1 साल का रिटर्न (%) 3 साल का रिटर्न 5 साल का रिटर्न
Axis 9.73 8.50 11.31
SBI 14.34 4.39 12.74
निप्पोन इंडिया 14.55 1.06 10.04
कोटक 16.90 2.50 8.55
HDFC -1.42 -1.65 7.51

मिड-कैप इक्विटी फंड क्या हैं?
मिड-कैप इक्विटी फंड म्यूचुअल फंड हैं जो मुख्य रूप से मिड कैप कंपनियों के शेयरों में निवेश करते हैं।सेबी द्वारा निर्धारित नियमों के अनुसार, मार्केट कैपिटलाइजेशन में 101 वीं से 250 वीं सबसे बड़ी कंपनियों के बीच हैं। इन फंडों में जोखिम और रिटर्न का सही मिश्रण होता है क्योंकि ये इन कंपनियों के शेयरों में निवेश करते हैं और बाज़ार में परिवर्तन आने पर अपने निवेश में भी बदलाव करता हैं।

निवेश करने के लिए टॉप मिड-कैप फंड

फंड का नाम 1 साल का रिटर्न (%) 3 साल का रिटर्न 5 साल का रिटर्न
कोटक इमर्जिंग इक्विटी फंड 18.70 12.76 12.10
DSP मिड कैप फंड 17.99 11.95 11.45
L&T मिडकैप फंड 8.33 11.07 11.08
इंवेसको इंडिया मिड कैप फंड 13.28 14.25 11.00
एक्सिस मिडकैप फंड 19.46 18.75 11.00

मल्टी-कैप फंड्स में इन्वेस्टमेंट
हाल ही में, SEBI ने बताया कि एक मल्टी-कैप फंड में इक्विटी सम्बन्धी एलोकेशन, उसमें रखे पैसे का कम-से-कम 75% होना चाहिए। 75% में से, कम-से-कम 25-25% लार्ज, मिड और स्मॉल-कैप इक्विटी सिक्योरिटीज में होना चाहिए। इससे पहले, मल्टी-कैप फंड्स के फंड मैनेजर्स अपने मन मुताबिक अलग-अलग मार्केट कैपिटलाइजेशन वाली इक्विटीज में पैसे इन्वेस्ट कर सकते थे।

यदि आप इक्विटी फंड्स में इन्वेस्ट करना चाहते हैं लेकिन ज्यादा-रिस्की एक्सपोजर लेना नहीं चाहते, तो आप टॉप-रेटेड मल्टी-कैप फंड्स में इन्वेस्ट कर सकते हैं। मार्केट कैपिटलाइजेशन की दृष्टि से ये फंड्स अच्छी तरह डाइवर्सिफाइड भी होते हैं। ये फंड्स, मार्केट के स्थिर रहने पर, स्मॉल और मिड-कैप फंड्स की तुलना में कम रिटर्न दे सकते हैं लेकिन अस्थिर मार्केट कंडीशन में ये फंड्स कम रिस्की होते हैं। इसलिए, यदि आप एक ऐसा फंड चाहते हैं जिसमें काम रिस्क हो तो आप मल्टी-कैप फंड्स आपके लिए सही इन्वेस्टमेंट चॉइस हो सकता है।

मल्टी-कैप फंड क्या हैं?
मल्टी-कैप मूलरूप से सभी मौसम के फंड होते हैं क्योंकि ये बाजार के हर चक्र में लगातार अच्छा प्रदर्शन करते हैं। मल्टी-कैप फंड लार्ज कैप, मिड कैप और स्मॉल कैप सभी को समाहित करते हैं और बाजार के सभी पूंजीकरण में यह प्रदर्शन करते हैं। उपरोक्त तीनों कटेगरी के अपने-अपने अवसर और जोखिम होते हैं, जिनको मल्टी कैप अपने हिसाब से समावेश करता है। सेबी के नियमों के मुताबिक बाजार पूंजीकरण के लिहाज से शीर्ष 100 कंपनियां लार्ज कैप होती हैं जबकि उसके बाद मिड कैप और स्मॉल कैप कंपनियां होती हैं।

निवेश करने के लिए टॉप मल्टी-कैप फंड

फंड का नाम 1 साल का रिटर्न (%) 3 साल का रिटर्न 5 साल का रिटर्न
Axis 3.73
कोटक 4.09 3.95 8.97
SBI -1.21 1.58 7.79
मोतीलाल ओसवाल 1.37 0.12 7.64
एडलवाइस 2.60 3.35 7.66

लार्ज-कैप फंड्स में इन्वेस्टमेंट
अगर आपकी उम्र ज्यादा है और डेब्ट फंड्स से ज्यादा रिटर्न चाहते हैं लेकिन ज्यादा इन्वेस्टमेंट रिस्क नहीं लेना चाहते हैं तो आप लार्ज-कैप फंड्स में पैसा लगा सकते हैं। ये अस्थिर मार्केट में स्थिर रिटर्न दे सकते हैं। इनमें कम रिस्क होता है जिससे ये मिड और स्मॉल-कैप इक्विटी में ज्यादा एक्सपोजर वाले फंड्स की तुलना में मध्यम रिटर्न देते हैं। यदि आप रिटायरमेंट के करीब हैं या आप ज्यादा रिस्क नहीं ले सकते हैं तो टॉप-रेटेड लार्ज-कैप फंड्स, आपके लिए सबसे अच्छा इन्वेस्टमेंट चॉइस हो सकता है।

लार्ज-कैप फंड क्या हैं?
इक्विटी म्यूचुअल फंड में लार्ज-कैप में निवेश ज्‍यादा सुरक्षित समझा जाता है। इन फंड में निवेश का पैसा बड़ी कंपनियों में लगाया जाता है। इस कैटेगरी में सभी म्यूचुअल फंड की ढेरों स्कीम हैं। सेबी ने पिछले साल अक्टूबर में कैटेगरी के नए नियम लागू किए हैं। इसके बाद लार्ज कैप फंड किन कंपनियों में निवेश कर सकते हैं, यह तय कर दिया गया है। म्यूचुअल फंड कंपनियों ने भी अपनी स्‍कीम्‍स में सेबी के नए नियमों के हिसाब से बदलाव कर लिया है।

निवेश करने के लिए लार्ज-कैप फंड

फंड का नाम 1 साल का रिटर्न (%) 3 साल का रिटर्न 5 साल का रिटर्न
Mirae Asset 5.64 4.82 11.28
Axis ब्लूचिप फंड 7.25 8.65 11.59
आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल ब्लूचिप फंड 3.23 3.32 9.08
SBI ब्लूचिप फंड 2.70 7.78 7.83
निप्पोन इंडिया लार्ज कैप फंड -2.15 0.82 6.89

कहां लगाएं पैसा?
किसी अन्य इन्वेस्टमेंट प्रोडक्ट की तरह, इक्विटी म्यूचुअल फंड प्रोडक्ट्स को भी अपने वित्तीय लक्ष्यों के आधार पर चुनना चाहिए। अगर आपके वित्तीय लक्ष्य बहुत दीर्घकालिक हैं और आप ज्यादा रिस्क लेना चाहते हैं तो आप स्मॉल और मिड-कैप फंड्स में अपने इक्विटी एलोकेशन का बड़ा हिस्सा इन्वेस्ट कर सकते हैं। यदि आपके वित्तीय लक्ष्य, मध्यकालिक से दीर्घकालिक हैं और आप कम रिस्क लेना चाहते हैं तो आप मल्टी-कैप फंड्स में अपने पैसे का एक बड़ा हिस्सा लगा सकते हैं। यदि आपके वित्तीय लक्ष्य, मध्यकालिक हैं और आप बहुत कम रिस्क लेना चाहते हैं तो आप लार्ज-कैप फंड्स में अपने इक्विटी एलोकेशन का बड़ा हिस्सा इन्वेस्ट कर सकते हैं।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *