Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्लीएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

वॉट्सऐप की नई पॉलिसी की वजह से लोगों ने अब नए मैसेजिंग ऐप्स को इन्स्टॉल करना शुरू कर दिया है। इसका सबसे ज्यादा फायदा टेलीग्राम और सिग्नल ऐप को मिल रहा है। सोशल मीडिया पर भी इन ऐप्स की चर्चा होने लगी है। दूसरी तरफ, वॉट्सऐप पॉलिसी को लेकर जोक्स बन रहे हैं।

हाल ही में मैसेजिंग ऐप्स द्वारा यूजर की इंफॉर्मेशन और डेटा कलेक्ट करने की रिपोर्ट आई थी। इसमें टेलीग्राम और सिग्नल ऐसे ऐप्स हैं जो यूजर का सबसे कम डेटा कलेक्ट कर रहे हैं। सिग्नल मैसेजिंग ऐप्स के पास यूजर का सिर्फ मोबाइल नंबर ही होता है।

अब सिग्नल पर ज्यादा भरोसा
बीते 2 दिन से सिग्नल ऐप सोशल मीडिया में छाया हुआ है। यही वजह है कि ये लोगों की पहली पसंद बन रहा है। लाखों यूजर्स इसे गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर चुके हैं। सिग्नल ने इसकी जानकारी सोशल मीडिया पर भी शेयर की है। कंपनी ने बताया कि पिछले दो दिन से हमारे ऐप्स की डाउनलोडिंग बढ़ गई है। इसकी वजह से वेरीफिकेशन कोड आने में देरी हो रही है। कंपनी ने अपने मैसेज प्लेटफार्म से जुड़ने के लिए गाइडलाइन भी जारी की है।

वॉट्सऐप से सिग्नल पर आने की प्रोसेस

  • सबसे पहले यूजर्स सिगनल पर एक ग्रुप बनाएं। अब ग्रुप सेटिंग्स पर जाकर ग्रुप लिंक पर टैप करें।
  • ग्रुप लिंक क्रिएट के लिए टॉगल ऑन करें और शेयर पर टैप करें।
  • अब फोन पर शेयर करन के लिए कई ऐप्स के ऑप्शन आएंगे, आप वॉट्सऐप को सिलेक्ट करें।
  • अब वॉट्सऐप यूजर्स के पास सिग्नल की लिंक पहुंच जाएगी, जिससे ऐप को इन्स्टॉल कर पाएंगे।

वॉट्सऐप पॉलिसी पर चिंता करने की जरूरत क्यों?
वॉट्सऐप ने अपनी नई पॉलिसी में साफ किया है कि यूजर को अपनी प्राइवेसी कंपनी के साथ शेयर करना होगी। यानी वॉट्सऐप अब आपके डेटा पर पूरी नजर रखेगी और आपकी प्राइवेसी पूरी तरह खत्म हो जाएगी। भारत में वॉट्सऐप यूजर्स की संख्या 40 करोड़ से ज्यादा है। यानी पॉलिसी एग्री करने के बाद कंपनी आपके खर्च, आईपी एड्रेस, लोकेशन, स्टेटस, कंटेंट, कॉल जैसे सभी डेटा को एक्सेस कर पाएगा। कुल मिलाकर ऐप पर आपकी प्राइवेसी पूरी तरह खत्म हो जाएगी।

क्या है वॉट्सऐप की नई पॉलिसी?
नई पॉलिसी में लिखा है कि हमारी सर्विसेज को ऑपरेट करने के लिए आप वॉट्सऐप को जो कंटेंट अपलोड, सबमिट, स्टोर, सेंड या रिसीव करते हैं, कंपनी उन्हें कहीं भी यूज, रिप्रोड्यूस, डिस्ट्रीब्यूट और डिस्प्ले कर सकती है। यूजर्स को ये पॉलिसी एग्री करना होगी। ये 8 फरवरी, 2021 से लागू हो रही है। इस तारीख के बाद इसे एग्री करना जरूरी होगी। यदि एग्री नहीं करते हैं तब अकाउंट का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। इसके लिए आप हेल्प सेंटर पर विजिट कर सकते हैं।





Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *