• Hindi News
  • Business
  • Discoms’ Outstanding Dues To Power Gencos News Update; Up 29% To Rs 1.38 Lakh Cr In Oct

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली25 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

डेटा के मुताबिक अक्टूबर माह में कुल बकाए 1.25 लाख करोड़ रुपए में प्राइवेट बिजली उत्पादन कंपनियों की हिस्सेदारी 34.19% और सरकारी कंपनियों की हिस्सेदारी 34.57% है।  – फाइल फोटो

  • सरकारी कंपनियों में अकेले NTPC का डिस्कॉम पर कुल बकाया 19.74 हजार करोड़ रुपए
  • प्राइवेट कंपनियों में अदाणी पावर का डिस्कॉम पर बकाया 20.24 हजार करोड़ रुपए

बिजली उत्पादक कंपनियों का डिस्ट्रीब्यूशन कंपनियों (डिस्कॉम) पर बकाया अक्टूबर माह में 29% बढ़कर 1.38 लाख करोड़ रुपए हो गया है। यह अक्टूबर 2019 में 1.06 लाख करोड़ रुपए रहा था। बकाए का यह आंकड़ा सेक्टर में मुश्किल हालात का दर्शा रहा है। बकाए के आंकड़े प्राप्ति (PRAAPTI) पोर्टल द्वारा जारी किए गए हैं। बता दें कि, जनरेटर और डिस्कॉम के बीच बिजली ट्रांजेक्शन में पारदर्शिता के लिए मई 2018 में प्राप्ति पोर्टल को लॉन्च किया गया था।

अक्टूबर माह में बकाया

अक्टूबर माह में डिस्कॉम को बकाए के भुगतान के लिए बिजली उत्पादकों कंपनियों ने 45 दिनों के ग्रेस पीरियड में भी दिया था। इसके बावजूद भी डिस्कॉम पर बकाए का कुल 1.25 लाख करोड़ रुपए रहा, जो पिछले साल की समान अवधि में 93.55 हजार करोड़ रुपए रहा था। क्योंकि डिस्कॉम ने ग्रेस पीरियड में भुगतान नहीं किया। जारी डेटा के मुताबिक डिस्कॉम पर कुल बकाए का यह आंकड़ा सितंबर माह के 1.36 लाख करोड़ रुपए से भी अधिक है।

सरकारी कंपनियों का बकाया

बिजली उत्पादक कंपनियों का ज्यादा बकाया राजस्थान, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, जम्मू और कश्मीर, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, झारखंड, हरियाणा और तमिलनाडु राज्यों के डिस्कॉम पर है। डेटा के मुताबिक अक्टूबर माह में कुल बकाए 1.25 लाख करोड़ रुपए में प्राइवेट बिजली उत्पादन कंपनियों की हिस्सेदारी 34.19% और सरकारी कंपनियों की हिस्सेदारी 34.57% है।

सरकारी कंपनियों में अकेले NTPC का डिस्कॉम पर कुल बकाया 19.74 हजार करोड़ रुपए है। इसके बाद NCL इंडिया का 6.69 हजार करोड़ रुपए, दामोदर वैली कॉर्पोरेशन का 5.92 हजार करोड़ रुपए बकाया है। इसके अलावा NHPC का 2.93 हजार करोड़ रुपए और THDC इंडिया का बकाया 2 हजार करोड़ रुपए है।

बकाए में प्राइवेट कंपनियों की भागीदारी

वहीं, प्राइवेट कंपनियों में अदाणी पावर का डिस्कॉम पर बकाया 20.24 हजार करोड़ रुपए है। इसके अलावा बजाज ग्रुप की कंपनी ललितपुर पावर जनरेशन कंपनी लिमिटेड का बकाया 4 हजार करोड़ रुपए है। इसके अलावा GMR का 2.19 हजार करोड़ रुपए और SEMB का 1.86 हजार करोड़ रुपए का बकाया है। इसके अलावा अक्टूबर माह में नॉन-कंवेंशियल एनर्जी जैसे सोलर और विंड के उत्पादक कंपनियों का बकाया 11 हजार करोड़ रुपए रहा।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *