Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्लीएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि कोरोनावायरस महामारी से प्रभावित अर्थव्यवस्था में अमेरिकी कामगारों के रोजगार की सुरक्षा के लिए ये रोक जरूरी है

  • ग्रीन कार्ड आवेदकों और अंशकालिक विदेशी कामगारों के अमेरिका में प्रवेश करने पर अप्रैल और जून में रोक लगाई गई थीं
  • ये दोनों रोक गुरुवार 31 दिसंबर 2020 तक के लिए ही थीं
  • बड़े पैमाने पर कंपनियां और कारोबारी इन पाबंदियों का विरोध कर रहे हैं

ग्रीन कार्ड आवेदकों और अंशकालिक विदेशी कामगारों के अमेरिका में प्रवेश करने पर लगी रोक कुछ और समय तक कायम रहेगी। ये दोनों रोक पिछले साल (2020) अप्रैल और जून में लगाई गई थीं। ये दोनों रोक गुरुवार 31 दिसंबर 2020 तक के लिए ही थीं। भारतीय कामगार रोजगार की तलाश में बड़ी संख्या में अमेरिका जाते हैं।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गुरुवार को ही इसकी अवधि बढ़ाकर 31 मार्च 2021 तक कर दी। उन्होंने कहा कि कोरोनावायरस महामारी से प्रभावित अर्थव्यवस्था में अमेरिकी कामगारों के रोजगार की सुरक्षा के लिए ये रोक जरूरी है। बड़े पैमाने पर कंपनियां और कारोबारी हालांकि इन पाबंदियों का विरोध कर रहे हैं।

अगले राष्ट्रपति जो बाइडेन ने इन रोक को हटाने के बारे में साफ तौर पर कुछ नहीं कहा है

20 जनवरी को अमेरिका के राष्ट्रपति बनने वाले जो-बाइडेन ने इन पाबंदियों की आलोचना की है, लेकिन इन्हें तुरंत निरस्त करने को लेकर उन्होंने कुछ स्पष्ट नहीं कहा है। ट्रंप ने प्रेसिडेंशियल प्रोक्लेमेशन के तहत इन रोक का आदेश दिया है, जिन्हें तुरंत रद किया जा सकता है। गौरतलब है कि अमेरिका में कोरोनावायरस के मामले थम नहीं रहे हैं और कम से कम 2 करोड़ लोग वहां बेरोजगारी भत्ते पर गुजारा कर रहे हैं।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *