टॉप न्यूज़


  • Hindi News
  • Business
  • PM Modi And Jinping To Be Face to face Again Between India China Border Dispute; Loss In Business, Health And Corona Will Be Discussed

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली7 घंटे पहले

ब्रिक्स सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना से मुकाबले के लिए आपसी सहयोग पर भी जोर दिया।

प्रधानमंत्री मोदी मंगलवार को ब्रिक्स देशों के सम्मेलन में शामिल हुए। मोदी ने कहा, “आतंकवाद सबसे बड़ी समस्या है, जिसका सामना दुनिया आज कर रही है। हम यह निश्चित करेंगे कि जो देश आतंकवाद को समर्थन करते हैं, उन्हें जवाबदेह ठहराया जाए और इस समस्या से ऑर्गनाइज्ड ढंग से लड़ा जाए।’

ब्रिक्स की वर्चुअल समिट में मोदी ने कहा, “भारत और दक्षिण अफ्रीका ने कोविड-19 वैक्सीन उपचार और जांच संबंधी एग्रीमेंट किए हैं। इसमें छूट का प्रस्ताव रखा गया है। हमें आशा है कि ब्रिक्स के बाकी देश भी इसका समर्थन करेंगे। डिजिटल हेल्थ में सहयोग बढ़ाने पर भारत काम करेगा।’

अगले ब्रिक्स सम्मेलन की अध्यक्षता भारत को

ब्रिक्स में ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका शामिल हैं। इस बार सम्मेलन की थीम ‘वैश्विक स्थिरता, साझा सुरक्षा और अभिनव विकास’ है। विदेश मंत्रालय ने कहा है कि अगले ब्रिक्स शिखर सम्मेलन की अध्यक्षता भारत करेगा। भारत 2021 में होने वाले ब्रिक्स देशों के 13वें शिखर सम्मेलन की मेजबानी करेगा। इससे पहले भारत ने 2012 और 2016 में ब्रिक्स देशों के शिखर सम्मेलन की अध्यक्षता की है।

ब्रिक्स सम्मेलन में आपसी सहयोग और आतंकवाद, व्यापार, स्वास्थ्य, ऊर्जा के साथ ही कोरोना महामारी के चलते हुए नुकसान की भरपाई जैसे मुद्दों पर चर्चा हुई। इसमें भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के अलावा ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन भी शामिल हुए।

भारत-चीन के बीच तनाव के दौरान हुआ ब्रिक्स सम्मेलन

ब्रिक्स देशों का यह सम्मेलन ऐसे समय पर आयोजित हुआ, जब इसके दो प्रमुख सदस्य देशों भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में तनाव बना हुआ है। हालांकि, अब दोनों पक्ष ऊंचाई वाले इलाकों से सैनिकों को पीछे हटाने के प्रस्ताव पर काम कर रहे हैं।

पिछले एक महीने में ये दूसरी बार है जब मोदी और जिनपिंग वीडियो कॉल पर आमने-सामने आए। पिछले सप्ताह शंघाई सहयोग संगठन की बैठक में दोनों शामिल हुए थे। कोरोना के चलते इस बार शिखर सम्मेलन का आयोजन वर्चुअल माध्यम से किया गया।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *