Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली30 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

लॉकडाउन के कारण मार्च से अगस्त तक लगातार बिजली खपत में गिरावट दर्ज की गई थी।

  • 1-15 नवंबर के बीच 50.15 बिलियन यूनिट बिजली की खपत
  • वार्षिक आधार पर लगातार तीसरे महीने बिजली खपत में ग्रोथ

नवंबर के पहले हाफ में देश में बिजली खपत 7.8% बढ़कर 50.15 बिलियन यूनिट (BU) पर पहुंच गई है। इससे देश में आर्थिक गतिविधियों में सुधार का संकेत मिलता है। बिजली मंत्रालय के डाटा से यह बात सामने आई है। डाटा के मुताबिक, एक साल पहले समान अवधि में 46.52 BU बिजली की खपत रही थी। नवंबर 2019 में कुल 93.94 BU की खपत रही थी।

लगातार तीसरे महीने में खपत बढ़ने का संकेत

जानकारों का कहना है कि आधे महीने के डाटा से स्पष्ट संकेत मिलता है कि बिजली खपत में लगातार तीसरे महीने ग्रोथ दर्ज होने जा रही है। 6 महीनों के गैप के बाद इसी साल सितंबर में पहली बार बिजली खपत में 4.4% की ग्रोथ रही थी। एक साल पहले की समान अवधि की 107.51 BU के मुकाबले सितंबर 2020 में 112.24 BU बिजली की खपत रही थी।

अक्टूबर में 109.53 BU बिजली की खपत रही थी

सितंबर में ग्रोथ के बाद अक्टूबर में भी बिजली खपत में 12% की ग्रोथ दर्ज की गई थी। एक साल पहले की समान अवधि की 97.84 BU के मुकाबले अक्टूबर 2020 में 109.53 BU बिजली की खपत रही थी। जानकारों का कहना है कि नवंबर के पहले हाफ में बिजली खपत में ग्रोथ से संदेश मिलता है कि अनलॉक के बाद बिजली की कमर्शियल और इंडस्ट्रियल मांग में लगातार सुधार हो रहा है।

25 मार्च को लगाया गया था देशव्यापी लॉकडाउन

कोविड-19 संक्रमण को रोकने के लिए सरकार ने 25 मार्च को देशव्यापी लॉकडाउन लगाया था। इस कारण आर्थिक गतिविधियों पर अंकुश लग गया था। इससे मार्च से लेकर अगस्त तक लगातार बिजली खपत प्रभावित हुई थी। वार्षिक आधार पर बिजली खपत में मार्च में 8.7%, अप्रैल में 23.2%, मई में 14.9%, जून में 10.9%, जुलाई में 3.7% और अगस्त में 1.7% की गिरावट दर्ज की गई थी।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *