Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

एक साल में 125.924 अरब डॉलर बढ़ गया है देश का फॉरेक्स रिजर्व

  • फॉरेन करेंसी असेट्स 3.932 अरब डॉलर बढ़कर 537.386 अरब डॉलर पर पहुंच गया
  • पहली बार 5 जून 2020 को समाप्त हुए सप्ताह में फॉरेक्स रिजर्व 500 अरब डॉलर के पार पहुंचा था

देश का फॉरेक्स रिजर्व फिर एक नए रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गया है। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की ओर से शुक्रवार को जारी हुए आंकड़े के मुताबिक 4 दिसंबर को समाप्त सप्ताह में यह 4.525 अरब डॉलर उछलकर 579.346 अरब डॉलर पर पहुंच गया। इससे पहले 27 नवंबर को समाप्त सप्ताह में यह 46.9 करोड़ डॉलर घटकर 574.821 अरब डॉलर पर आ गया था। आरबीआई के आंकड़ों के मुताबिक पहली बार 5 जून 2020 को समाप्त हुए सप्ताह में फॉरेक्स रिजर्व 500 अरब डॉलर के पार पहुंचा था।

विदेशी मुद्रा संपत्ति (फॉरेन करेंसी असेट्स) में भी भारी उछाल दर्ज किया गया है। फॉरेन करेंसी असेट्स (FCA) 3.932 अरब डॉलर बढ़कर 537.386 अरब डॉलर पर पहुंच गया। FCA को डॉलर में लिखा जाता है, लेकिन विदेशी मुद्रा संपत्तियों में मौजूद यूरो, पाउंड और येन जैसी गैर-डॉलर मुद्रा संपत्ति के वैल्यू में उतार-चढ़ाव का भी इस पर असर होता है।

गोल्ड रिजर्व का वैल्यू 53.5 करोड़ डॉलर बढ़ा

गोल्ड रिजर्व का वैल्यू इस दौरान 53.5 करोड़ डॉलर बढ़कर 35.728 अरब डॉलर हो गया। इंटरनेशनल मॉनेटरी फंड (आईएमएफ) में देश का स्पेशल ड्रॉइंग राइट्स (SDR) 1.2 करोड़ डॉलर बढ़कर 1.506 अरब डॉलर पर पहुंच गया। आईएमएफ में देश का रिजर्व पोजिशन 4.6 करोड़ डॉलर बढ़कर 4.725 अरब डॉलर पर पहुंच गया।

31 मार्च से अब तक फॉरेक्स रिजर्व में 101.539 अरब डॉलर की बढ़ोतरी हुई

आरबीआई के आंकड़ों के मुताबिक गत एक साल में देश का फॉरेक्स रिजर्व 125.924 अरब डॉलर बढ़ा है। इसी तरह 31 मार्च 2020 के मुकाबले फॉरेक्स रिजर्व में 101.539 अरब डॉलर की बढ़ोतरी हुई है। फॉरेन करेंसी असेट्स भी गत एक साल में 116.128 अरब डॉलर और 31 मार्च 2020 के बाद से 95.174 अरब डॉलर बढ़ा है।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *