• Hindi News
  • Business
  • Vedanta Delisting Investors Offered Above 73 Crore Shares In 4 Days 60 Crore More Shares Need To Be Offered On Friday

नई दिल्लीएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

​​​​​​​डिलिस्टिंग तभी सफल होगी, जब छोटे निवेशकों के पास मौजूद 169.73 करोड़ शेयरों में से कम से कम 134 करोड़ शेयर ऑफर किए जाएंगे

  • बाजार के आंकड़ों के मुताबिक 73.76 करोड़ शेयर 87.25 रुपए से 999 रुपए के प्राइस रेंज में ऑफर किए गए हैं
  • वेदांता को डिलिस्ट करने के लिए चल रही रिवर्स बुक बिल्डिंग की प्रक्रिया का शुक्रवार को आखिरी दिन है

वेदांता को डिलिस्ट करने के लिए चल रही रिवर्स बुक बिल्डिंग की प्रक्रिया का शुक्रवार को आखिरी दिन है। प्रमोटर्स की बायबैक योजना के तहत गत 4 दिनों में निवेशकों ने सिर्फ करीब 73.76 करोड़ शेयर ही ऑफर किए हैं। डिलिस्टिंग तभी सफल होगी, जब छोटे निवेशकों के पास मौजूद कुल 169.73 करोड़ शेयरों में से कम से कम 86 फीसदी या 134 करोड़ शेयर ऑफर किए जाएंगे।

स्टॉक एक्सचेंज के आंकड़ों के मुताबिक 73.76 करोड़ शेयर 87.25 रुपए से 999 रुपए के प्राइस रेंज में ऑफर किए गए हैं। इनमें से 25 करोड़ से ज्यादा शेयर 135 रुपए से 145 रुपए के प्राइस रेंज में ऑफर किए गए हैं। बाकी शेयरों में से अधिकतर शेयर 148 रुपए, 150 रुपए और 154 रुपए के बैंड्स में ऑफर किए गए हैं।

गुरुवार को निवेशको ने 56.6 करोड़ शेयर ऑफर किए

गुरुवार को निवेशको ने 56.6 करोड़ शेयर ऑफर किए। 73.76 करोड़ शेयरों में से 15.5 करोड़ या 21 फीसदी शेयर 140 रुपए से नीचे और 51.1 करोड़ या 70 फीसदी शेयर 140 रुपए से 160 रुपए के बीच के प्राइस पर ऑफर किए गए। करीब 7.1 करोड़ या 9 फीसदी शेयर 160 रुपए प्रति शेयर से ज्यादा प्राइस पर ऑफर किए गए।

डिस्कवर्ड प्राइस के लिए अंतिम समय सीमा 16 अक्टूबर है

कंपनी को डिलिस्ट करने के लिए वेदांता के प्रमोटर्स आम निवेशकों के पास मौजूद 169.73 करोड़ शेयर खरीदना चाहते हैं, जो कंपनी की 47.67 फीसदी हिस्सेदारी के बराबर है। डिलिस्टिंग के सफल होने के लिए अब सिर्फ एक दिन में 60 करोड़ शेयरों का ऑफर आना जरूरी है। रिवर्स बुक बिल्डिंग प्रक्रिया 5 अक्टूबर को शुरू हुई है, जिसका 9 अक्टूबर को आखिरी दिन है। डिस्कवर्ड प्राइस की घोषणा और खरीदार द्वारा डिस्कवर्ड प्राइस को स्वीकार या खारिज करने के लिए आखिरी समय सीमा 16 अक्टूबर है।

वेदांता के शेयर 4.85% गिरे

वेदांता के शेयर गुरुवार को बीएसई पर 4.85 फीसदी गिरावट के साथ 117.60 रुपए पर बंद हुए। बुधवार को भी शेयर 10.4 फीसदी गिरे थे। डिलिस्टिंग का फंड करने के लिए प्रमोटर्स ने करीब 24,000 करोड़ रुपए जुटाए हैं। यह फंड करीब 140 रुपए प्रति शेयर के प्राइस को सपोर्ट कर सकता है।

वेदांता डिलिस्टिंग पर और जानकारी के लिए पढ़ें



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *