मुंबई10 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

शापुर जी पालन जी ने एक बयान जारी किया है। बयान में कहा है कि अनलिस्टेड कंपनियों के लिए एक तीसरी पार्टी द्वारा वैल्यूएशन किया जा सकता है। इसे नेट डेट के रूप में एडजस्ट किया जाना चाहिए।

  • शापुरजी पालन जी ने बयान जारी कर कहा कि उसने सुप्रीम कोर्ट में अलग होने का प्लान सबमिट किया है
  • शापुरजी पालन जी ने कहा है कि उसकी टाटा ग्रुप में 18.37 पर्सेंट हिस्सेदारी का वैल्यूएशन 1.75 लाख करोड़ रुपए है

शापुरजी पालन जी ग्रुप ने गुरुवार को कहा कि उसने एक प्लान सुप्रीम कोर्ट में सबमिट किया है। इसके मुताबिक, वह 70 सालों की इस पुरानी दोस्ती को खत्म करना चाहता है। शापुरजी पालन जी ने टाटा ग्रुप में अपनी होल्डिंग की कुल वैल्यू 1.75 लाख करोड़ रुपए आंकी है। यह जानकारी सुप्रीम कोर्ट में दी गई है।

2016 में सायरस मिस्त्री को हटाया गया था

बता दें कि शापुरजी पालन जी के सायरस मिस्त्री को 28 अक्टूबर 2016 को टाटा समूह के चेयरमैन पद से हटा दिया गया था। उसी के बाद से दोनों ग्रुप में लड़ाई चल रही है। मामला कोर्ट में है। लंबी सुनवाई के बाद आखिरकार सायरस मिस्त्री ने टाटा समूह के साथ बिजनेस के रिश्तों को खत्म करने के लिए एक प्लान सबमिट किया है। शापुरजी पालन जी ने एक बयान जारी कर रहा कि टाटा ग्रुप दो ग्रुप कंपनी है जिसमें एक टाटा ट्रस्ट है। इसमें टाटा परिवार के सदस्य और टाटा कंपनियों की होल्डिंग 81.6 पर्सेंट है। बाकी की 18.37 पर्सेंट होल्डिंग मिस्त्री परिवार के पास है। इससे पहले टाटा ग्रुप ने इसी तरह के अलग होने का एक प्लान सुप्रीम कोर्ट में सौंपा था।

टाटा संस मुख्य निवेश कंपनी है

टाटा संस ग्रुप की मुख्य निवेश कंपनी है और यह टाटा ग्रुप की होल्डिंग कंपनी है। इसका वैल्यू कुल लिस्टेड कंपनियों के आधार पर आंका गया है। दूसरी ओर नॉन लिस्टेड इक्विटीज कंपनियां हैं, जिसमें ब्रांड, कैश बैलेंस और इमूवेबल असेट्स हैं। शापुरजी पालनजी ग्रुप की टाटा में होल्डिंग का वैल्यूएशन 1.75 लाख करोड़ रुपए है।

वैल्यूएशन का विवाद निपटाना चाहिए

अलग होने की अपनी स्कीम में शापुरजी पालनजी ग्रुप ने कहा कि वैल्यूएशन के ऊपर जो भी विवाद हैं, उन्हें तुरंत निपटाना चाहिए। इसे ब्रांड के वैल्यूएशन के आधार पर फैसला करना चाहिए। अनलिस्टेड कंपनियों के लिए एक तीसरी पार्टी द्वारा वैल्यूएशन किया जा सकता है। इसे नेट डेट के रूप में एडजस्ट किया जाना चाहिए।

वैल्यूएशन के लिए इस उदाहरण को समझें

शापुरजी पालनजी ने एक बयान में कहा कि वैल्यूएशन के लिए जो उदाहरण है, वह इस तरह होना चाहिए। जैसे टाटा की टीसीएस में 72 पर्सेंट हिस्सेदारी है। शापुरजी की टाटा संस में 18.37 पर्सेंट हिस्सेदारी है। टीसीएस की शेयरहोल्डिंग के आधार पर इसे 13.22 पर्सेंट माना जाए और इसकी वैल्यूएशन आज के बाजार भाव के हिसाब से 1.35 लाख करोड़ रुपए मानी जाए।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *