Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्लीएक महीने पहले

  • कॉपी लिंक
गेमिंग से जुड़े कई ई-मेल ऑफर स्कैम हो सकते हैं, इसलिए बेहतर होगी की डेवलपर या स्टोर की वेबसाइट पर जाकर देखे कि क्या छूट का उल्लेख किया गया है यदि नहीं, तो यह वास्तविक नहीं है। (डेमो इमेज) - Dainik Bhaskar

गेमिंग से जुड़े कई ई-मेल ऑफर स्कैम हो सकते हैं, इसलिए बेहतर होगी की डेवलपर या स्टोर की वेबसाइट पर जाकर देखे कि क्या छूट का उल्लेख किया गया है यदि नहीं, तो यह वास्तविक नहीं है। (डेमो इमेज)

  • दुनियाभर के एक तिहाई (33 फीसदी) गेमर्स को धोखेबाजों के हाथों नुकसान उठाना पड़ा है
  • गेमिंग की शुरुआत से पहले ही विचार कर लें कि धोखेबाजों और हैकर्स से कैसे बचना है

महामारी के कारण ऑनलाइन गेमिंग सेक्टर में काफी उछाल आया। लेकिन एक रिपोर्ट में चौंका देने वाला आंकड़ा सामने आया है। रिपोर्ट के मुताबिक, हर 10 में से एक गेमर की आईडी चोरी हो चुकी है और जिसकी कीमत वैश्विक स्तर पर $347 बिलियन (25.5 लाख करोड़ रुपए) से अधिक हो सकती है।

निन्टेन्डो, सोनी और माइक्रोसॉफ्ट जैसी कंपनियों के लिए 2020 में रिकॉर्ड तोड़ बिक्री का साल रहा है क्योंकि लाखों लोग महामारी के दौरान घर में रहे।

33 फीसदी गेमर्स को धोखेबाजों से नुकसान हुआ
साइबर-सिक्योरिटी फर्म केस्परस्काई के वैश्विक शोध के अनुसार, एक तिहाई (33 फीसदी) गेमर्स को धोखेबाजों के हाथों नुकसान उठाना पड़ा है। 17 देशों में सर्वेक्षण किए गए 5,031 गेमर्स के अनुसार, खेलते समय लगभग पांचवां (19 प्रतिशत) भी परेशान किया गया है।

तनाव के कारण कई लोगों के गेम डिलीट किए
सर्वे में शामिल 31 फीसदी खेलों में इन सभी के कारण तनाव और चिंता देखी गई। निष्कर्ष में सामने आया कि- स्ट्रेस रिलीफ के तौर पर यह काफी निराशाजनक है क्योंकि तनाव के कारण अधिकतर (62 प्रतिशत) ने गेमिंग, रोमांच (62 प्रतिशत) और फिर दोस्ती (46 प्रतिशत) को हटाने के लिए आगे बढ़े। यह चिंताजनक प्रवृत्ति रूस (44 प्रतिशत), सऊदी अरब (27 प्रतिशत), तुर्की (28 प्रतिशत) और अमेरिका (27 प्रतिशत) में और भी अधिक प्रचलित है।

पहले ही तय करें कि धोखेबाजों से कैसे बचना है
केस्परस्काई के हेड ऑफ कंज्यूमर प्रोडक्ट मार्केटिंग, मरीना टिटोवा ने कहा- “गेमिंग की शुरुआत से पहले ही विचार करना महत्वपूर्ण है, कि आप धोखेबाजों और हैकर्स से कैसे बच सकते हैं या संभाल सकते हैं। इस शुरुआती काम को करने का मतलब है कि आप उन आशंकाओं को किनारे कर सकते हैं और खेल का आनंद लेने पर ध्यान केंद्रित कर सकते हैं।

ई-मेल पर आंख बंद करके विश्वास न करें

  • रिपोर्ट यह सुझाव देती है कि गेम खरीदने लिए पीसी गेम्स को प्राथमिकता देना चाहिए जो प्रसिद्ध प्लेटफार्मों जैसे स्टीम और जीओजी या आधिकारिक डेवलपर साइटों पर खरीदारी के लिए उपलब्ध हैं।
  • रिपोर्ट ने सुझाव दिया- “आधिकारिक स्टोर अक्सर अद्भुत छूट प्रदान करते हैं, या यहां तक ​​कि मुफ्त गेम भी। लेकिन कई ई-मेल ऑफर एक स्कैम हो सकते हैं, इसलिए बेहतर होगी की डेवलपर या स्टोर की वेबसाइट पर जाकर देखे कि क्या छूट का उल्लेख किया गया है यदि नहीं, तो यह वास्तविक नहीं है।” एक कार्ड को लिंक करने के बजाय जिसमें आपकी सभी बचत हैं, ऑनलाइन खरीदारी के लिए डेबिट कार्ड प्राप्त करें और आवश्यकतानुसार इसे यूज करें।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *