टॉप न्यूज़


  • Hindi News
  • Business
  • Air India’s Privatisation Plan; Tata Group Will Buy An 83.67 Percent Stake In Air Asia India

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई33 मिनट पहले

टाटा संस के पास वर्तमान में एयर एशिया में 51 पर्सेंट हिस्सेदारी है। जबकि बाकी की हिस्सेदारी एयर एशिया बरहाद के पास है

  • एयर एशिया अपने भारतीय बिजनेस निकलना चाहती है। जून तिमाही में इसका नुकसान 332 करोड़ रुपए का रहा है
  • इसने पिछले 6 सालों में भारतीय बिजनेस से कभी भी मुनाफा नहीं कमाया है। 25 मई के बाद से देश में घरेलू विमानन सेवा शुरू हो पाई थी

टाटा ग्रुप एयर एशिया इंडिया में 83.67% हिस्सेदारी खरीदेगा। यह जानकारी सूत्रों से मिली है। अभी टाटा और एयर एशिया के बीच ज्वाइंट वेंचर है। एयर एशिया मलेशियाई कंपनी है। यह खरीदारी टाटा संस के जरिए की जाएगी।

जल्द ही इसकी घोषणा की जा सकती है

जानकारी के मुताबिक, जल्द ही इसकी घोषणा की जा सकती है। टाटा संस के पास वर्तमान में एयर एशिया में 51 पर्सेंट हिस्सेदारी है। जबकि बाकी की हिस्सेदारी एयर एशिया बरहाद के पास है। दरअसल एयर एशिया भारतीय बिजनेस से निकलना चाहती है। यही कारण है कि वह अपनी पूरी हिस्सेदारी इसमें बेचना चाहती है।

विस्तारा के साथ भी ज्वाइंट वेंचर

बता दें कि टाटा ग्रुप पहले से ही विस्तारा के साथ भी ज्वाइंट वेंचर में है। दूसरी ओर वह सरकारी कंपनी एयर इंडिया को भी खरीदने की योजना बना रहा है। टाटा ग्रुप ने इसके लिए बिड किया है। सरकार एयर इंडिया को लंबे समय से बेचने का प्रयास कर रही है। बता दें कि टाटा का एयर इंडिया के साथ एक भावनात्मक लगाव है क्योंकि एयर इंडिया की शुरुआत टाटा ग्रुप ने ही की थी।

लंबे समय से थी योजना

एयर एशिया में हिस्सेदारी बढ़ाने की योजना टाटा ग्रुप काफी लंबे समय से बना रहा है। कोविड की वजह से एविएशन सेक्टर को काफी नुकसान पहुंचा है। यही कारण है कि एयर एशिया अपने भारतीय बिजनेस से निकलना चाहती है। जून तिमाही में इसका नुकसान 332 करोड़ रुपए का रहा है। इसने पिछले 6 सालों में भारतीय बिजनेस से कभी भी मुनाफा नहीं कमाया है। 25 मई के बाद से देश में घरेलू विमानन सेवा शुरू हो पाई थी।

एयर एशिया ने पैसे लगाने से मना किया

नवंबर में ही टाटा ग्रुप ने 5 करोड़ डॉलर की आपात रकम एयर एशिया में निवेश करने की योजना बनाई थी। जबकि एयर एशिया ने भारतीय बिजनेस में निवेश को बंद कर दिया था। नवंबर में ही एयर एशिया ने भारतीय बिजनेस के वैल्यूशएन की योजना शुरू कर दी थी। 49 पर्सेंट उसकी इसमें हिस्सेदारी है। भारत में एयर एशिया ने 6 साल पहले अपनी शुरुआत की थी। इसके पास इस समय 2,500 कर्मचारी हैं। इसमें से 600 पाइलट हैं। इसके पास एयर बस ए 320 की 30 फ्लीट है।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *