Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई21 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

वित्त वर्ष 2020-21 की दूसरी तिमाही में भारती एयरटेल ने 1.4 करोड़ ग्राहक जोड़े हैं। जबकि जियो ने केवल 70 लाख ग्राहक जोड़े हैं

  • फिच ने कहा है कि पिछले दो सालों में वोडाफोन आइडिया के करीबन 15.5 करोड़ ग्राहक घटे हैं
  • जियो और एयरटेल का रेवेन्यू मार्केट शेयर अगले 12 से 18 महीनों में 80% के करीब हो जाएगा

टेलीकॉम कंपनी वोडाफोन आइडिया को बड़ा झटका लगने वाला है। खबर है कि अगले 12 महीनों में इसके 5-7 करोड़ ग्राहक घट सकते हैं। जबकि इसी अवधि में भारती एयरटेल और रिलायंस जियो के ग्राहकों की संख्या बढ़ सकती है। यह अनुमान रेटिंग एजेंसी फिच ने जताया है।

दो सालों में वोडाफोन को घटे ग्राहक

फिच ने कहा है कि पिछले दो सालों में वोडाफोन आइडिया के करीबन 15.5 करोड़ ग्राहक घटे हैं। हमारा अनुमान है कि अभी अगले एक साल में जो वोडाफोन आइडिया के ग्राहक घटेंगे, उसका ज्यादा फायदा रिलायंस जियो को मिलेगा। जबकि थोड़ा फायदा एयरटेल को मिलेगा। इससे इन दोनों के ग्राहकों की संख्या बढ़ेगी। इनका रेवेन्यू मार्केट शेयर अगले 12 से 18 महीनों में 80% के करीब हो जाएगा। सितंबर तिमाही में यह हिस्सेदारी 74% थी।

भारती एयरटेल ने 1.4 करोड़ ग्राहक जोड़े

वित्त वर्ष 2020-21 की दूसरी तिमाही में भारती एयरटेल ने 1.4 करोड़ ग्राहक जोड़े हैं। जबकि जियो ने केवल 70 लाख ग्राहक जोड़े हैं। बता दें कि वोडाफोन आइडिया के ग्राहकों की संख्या में तेजी से कमी आ रही है। इनका मार्केट शेयर घट रहा है। इसका कारण यह है कि इसकी बैलेंसशीट कमजोर है और फाइनेंशियल फ्लैक्सिबिलिटी भी सीमित है। साथ ही इसका नेटवर्क इस समय सबसे खराब है।

वोडाफोन आइडिया रकम जुटाने की योजना बना रही हैं

फिच ने कहा है कि वोडाफोन आइडिया 3.4 अरब डॉलर की रकम जुटाने की योजना बना रही है। इसमें इक्विटी और डेट दोनों होंगे। पर जो ग्राहक कंपनी के नेटवर्क से जा चुके हैं, वे अब वापस नहीं आएंगे। जो रकम कंपनी जुटा रही है, उससे उसके विस्तार की योजना पूरी नहीं हो पाएगी। वोडाफोन आइडिया ने अब तक अपने AGR पेमेंट के तहत 1.1 अरब डॉलर की रकम टेलीकॉम विभाग को दिया है। जबकि इसका कुल पेमेंट 8.9 अरब डॉलर का है। अगले दस सालों में कंपनी को यह पेमेंट करना है। इसकी पहली किश्त अप्रैल में देनी है।

एयरटेल की रेटिंग बीबीबी माइनस

फिच रेटिंग ने एयरटेल के लांग टर्म फॉरेन करेंसी इश्यूअर डिफॉल्ट रेटिंग और सीनियर अनसिक्योर्ड रेटिंग को बीबीबी माइनस पर रखा है। कई सारी एजेंसियों ने जियो और एयरटेल पर भरोसा जताया है। ब्रोकरेज हाउसों का मानना है कि एयरटेल का शेयर 600 रुपए से ऊपर जा सकता है। जबकि जियो के ग्राहक लगातार बढ़ रहे हैं। 40 करोड़ ग्राहकों के साथ यह देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी है।

2021 में भारती का रेवेन्यू 17 पर्सेंट बढ़ सकता है

फिच ने कहा है कि 2021 में भारती का रेवेन्यू 17% बढ़ सकता है। भारतीय वायरलेस बाजार में सुधार और दक्षिण अफ्रीका बाजार में उसकी मजबूती से लगातार यह पॉजिटिव कंपनी बनी है। इसका चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही में रेवेन्यू 19% बढ़ा है। एजेंसी का कहना है कि एयरटेल का भारतीय वायरलेस का एबिट्डा 40-50% बढ़ सकता है। साथ ही इसके मासिक प्रति ग्राहक खर्च में 10-12% की बढ़त हो सकती है।

एजीआर का 2.4 अरब डॉलर दिया

एयरटेल भारत के मोबाइल रेवेन्यू में 22% की बढ़त हासिल किया है। एयरटेल ने अब तक एजीआर में 2.4 अरब डॉलर की रकम का पेमेंट किया है। इसे कुल 6.4 अरब डॉलर का पेमेंट करना है। भारती एयरटेल वित्त वर्ष 2021 में फ्री कैश फ्लो जनरेट कर सकती है। कंपनी लगातार 4 जी पर निवेश कर रही है। फाइबर नेटवर्क को भी यह मजबूत कर रही है। इससे ऐसा अनुमान है कि वित्त वर्ष 2021 में यह 50 करोड़ डॉलर और 2022 में एक अरब डॉलर का निवेश स्पेक्ट्रम पर करेगी।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *