• Hindi News
  • Business
  • Average Salary Hike To Be 6.4 Percent, Salary Of Top Performers May Increase By 20.6 Percent

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • सबसे ज्यादा हाइक कंज्यूमर प्रॉडक्ट्स और हाई टेक कंपनियां दे सकती हैं, एनर्जी और BPO के एंप्लॉयी के वेतन में हो सकती है सबसे कम बढ़ोतरी
  • एवरेज परफॉर्मर के वेतन में हर एक रुपये की बढ़ोतरी पर टॉप परफॉर्मर को 2.35 रुपये, एवरेज से ऊपर वालों को 1.25 रुपये की हाइक मिलेगी

इंडिया इंक इस साल अप्रेजल सीजन में औसतन 6.4% की सैलरी हाइक दे सकती है, जबकि (10.3%) बेस्ट परफॉर्मर्स 20.6% की इनक्रीमेंट पा सकते हैं। यह संभावना ग्लोबल कंसल्टिंग और एडवाइजरी फर्म विलिस टावर्स वॉटसन के सैलरी प्रोजेक्शन सर्वे में जताई गई है। सर्वे के मुताबिक, सबसे ज्यादा हाइक कंज्यूमर प्रॉडक्ट्स और हाई टेक कंपनियां दे सकती हैं जबकि एनर्जी और BPO कंपनियों के एंप्लॉयीज को सबसे कम इनक्रीमेंट से संंतोष करना पड़ सकता है।

हाई-टेक, फार्मा, कंज्यूमर प्रॉडक्ट्स और रिटेल सेक्टर में 8% की इनक्रीमेंट हो सकती है

विलिस टावर्स वाटसन की सैलरी बजट प्लानिंग रिपोर्ट के मुताबिक, हाई-टेक, फार्मा, कंज्यूमर प्रॉडक्ट्स और रिटेल सेक्टर में सबसे ज्यादा लगभग 8% की इनक्रीमेंट हो सकती है। फाइनेंशियल सर्विसेज और मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में 7% जबकि BPO में 6% सैलरी हाइक हो सकती है। सबसे कम 4.6% की एवरेज इनक्रीमेंट एनर्जी सेक्टर में हो सकती है। 2020 में एवरेज सैलरी इनक्रीमेंट 5.9% रही थी, जो इस साल के मुकाबले थोड़ी कम थी।

अहम और ज्यादा स्किल वाले एंप्लॉयी को बनाए रखने पर फोकस कर सकती हैं कंपनियां

विलिस टावर्स वाटसन इंडिया के कंसल्टिंग हेड टैलेंट एंड रिवॉर्ड्स राजुल माथुर के मुताबिक, ‘सैलरी बजट पिछले कई वर्षों से कम है इसलिए कंपनियां अहम और ज्यादा स्किल वाले एंप्लॉयी पर फोकस कर सकती हैं। उनका जोर परफॉर्मेंस पे और बिजनेस आउटपुट से जुड़े पे पर हो सकता है।’

टोटल एंप्लॉयीज में 10.3% टॉप परफॉर्मर्स को 20.6% की सैलरी इनक्रीमेंट मिल सकती है

सर्वे के मुताबिक, टोटल एंप्लॉयीज में से 10.3% टॉप परफॉर्मर्स को 20.6% की सैलरी इनक्रीमेंट मिल सकती है। इसका मतलब एवरेज परफॉर्मर के वेतन में हरेक रुपये की बढ़ोतरी पर टॉप परफॉर्मर को 2.35 रुपये और एवरेज से ऊपर के परफॉर्मर को 1.25 रुपये की हाइक मिलेगी।

जनवरी में मंथली हायरिंग ज्यादा रही लेकिन सालाना आधार पर 19% की गिरावट आई

यह तो रही सैलरी हाइक की बात। अब बात करते हैं भर्तियों की, जिसमें पिछले कुछ महीनों से लगातार बढ़ोतरी हो रही है। जनवरी 2021 में मंथली बेसिस पर हायरिंग ज्यादा रही लेकिन सालाना आधार पर उसमें 19% की गिरावट आई है। यह जानकारी मंथली इंडेक्स नौकरी जॉबस्पीक के जनवरी के सर्वे में है।

एडुकेशन और टीचिंग डोमेन में पिछले महीने दिसंबर से 11% ज्यादा हायरिंग हुई

इस इंडेक्स के मुताबिक, एडुकेशन और टीचिंग डोमेन में पिछले महीने दिसंबर से 11% ज्यादा हायरिंग हुई। कोविड-19 के चलते हेल्थ इंश्योरेंस की मांग बढ़ने से इंश्योरेंस सेक्टर में हायरिंग मंथली बेसिस पर 8% बढ़ी।

रियल एस्टेट में हायरिंग 13%, रिटेल में 7%, BFSI में 5% और BPO/ITES में 3% बढ़ी

जिन दूसरे सेक्टर में पिछले महीने सबसे ज्यादा हायरिंग हुई, उनमें रियल एस्टेट (13%), रिटेल (7%), BFSI (5%) और BPO/ITES (3%) शामिल हैं। अब भी सुस्ती का सामना कर रहे ऑटो और एंसिलियरी सेक्टर में मंथली हायरिंग 14% घटी जबकि टेलीकॉम में हायरिंग 8% कम रही।

वडोदरा जैसे टीयर-2 शहरों में हायरिंग ​​​​​​​बढ़ी जबकि मेट्रो में गिरावट आई

हायरिंग को शहरों के हिसाब से देखें तो टीयर टू शहरों में इजाफा हुआ जबकि मेट्रो में गिरावट आई। वडोदरा में हायरिंग मंथली बेसिस पर 9% बढ़ी, चंडीगढ़ में 8% और 6% का इजाफा हुआ। कोलकाता में हायरिंग 4% घटी जबकि चेन्नई, बेंगलुरु और हैदराबाद में 3-3% और दिल्ली में 2% की गिरावट आई।

हायरिंग में सबसे ज्यादा 26% की गिरावट एंट्री लेवल वाले जॉब में आई

अगर सेक्टर की बात करें तो सालाना हायरिंग में सबसे ज्यादा 61% की गिरावट स्वाभाविक रूप से हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल सेक्टर में आई। इसके बाद BPO/ITES (-18%), BFSI (-29%) और इंश्योरेंस सेक्टर (-23%) का नंबर रहा।

एंट्री लेवल वाले जॉब की हायरिंग में सबसे ज्यादा 26% की कमी आई

हायरिंग में कमी फार्मा/बायोटेक (-9%) और आईटी/सॉफ्टवेयर (-11%) में भी आई। सबसे तकलीफ वाली बात यह रही कि एंट्री लेवल वाले जॉब के लिए हुई हायरिंग में सबसे ज्यादा 26% की गिरावट आई। हायरिंग में सबसे कम 9% की गिरावट 13 साल से ज्यादा एक्सपीरियंस वाले जॉब में देखी गई।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *