नई दिल्ली29 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

रिलायंस ग्रुप के साथ फ्यूचर ग्रुप का विलय समझौता होने के बाद अमेजन ने पिछले महीने फ्यूचर ग्रुप के खिलाफ कानूनी प्रक्रिया शुरू की है

  • फ्यूचर कूपंस प्राइवेट लिमिटेड में अपने निवेश के बदले में अमेजन ने हर्जाने की मांग की है
  • फ्यूचर कूपंस ने कहा, हर्जाने का यदि भुगतना करना होगा तो प्रमोटर करेंगे

फ्यूचर रिटेल ने कहा कि अमेजन ने उससे 1,431 करोड़ रुपए का हर्जाना मांगा है। शेयर बाजारों को दी गई सूचना में उसने कहा कि अमेजन ने फ्यूचर कूपंस प्राइवेट लिमिटेड में किए गए निवेश के बदले में ब्याज सहित हर्जाने की यह रकम मांगी है। अमेजन ने पिछले महीने फ्यूचर ग्रुप के खिलाफ कानूनी प्रक्रिया शुरू की थी।

उधर फ्यूचर कूपंस ने शेयर बाजारों को दी गई सूचना में कहा कि यदि अमेजन की यह मांग आर्बिट्रेशन या किसी अन्य न्यायिक फोरम पर मंजूर की जाती है, तो इस रकम का भुगतान प्रमोटर द्वारा किया जाएगा। अमेजन की इस मांग का कंपनी पर कोई वित्तीय प्रभाव नहीं पड़ेगा। फ्यूचर ग्रुप और अमेजन के विवाद का आर्बिट्रेशन सिंगापुर इंटरनेशनल आर्बिट्रेशन सेंटर कर रहा है।

FRL ने SEBI और स्टॉक एक्सचेंज से रिलायंस रिटेल सौदे से जुड़े आवेदन को मंजूरी देने का अनुरोध किया

फ्यूचर रिटेल लिमिटेड (FRL) ने भारतीय स्टॉक एक्सचेंजेज से यह भी अनुरोध किया है कि रिलायंस रिटेल के साथ उसके सौदे को लेकर उसके आवेदन को वे प्रोसेस करें। क्योंकि आर्बिट्रेटर के आदेश बाजार नियामक सेबी या एक्सचेंजेज को सौदे को मंजूरी देने या उसपर विचार करने से नहीं रोकते हैं। फ्यूचर ग्रुप की कंपनियों के रिलायंस रिटेल के साथ विलय समझौता होने के बाद फ्यूचर ग्रुप और अमेजन के बीच विवाद पैदा हो गया है।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *