• Hindi News
  • Business
  • Maruti Suzuki Sales Exceeded Expectations Of Brokerage Firm In December 2020

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

24 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • देश की सबसे बड़ी कार कंपनी ने दिसंबर 2020 में 1,60,226 गाड़ियां बेचीं, पिछले दिसंबर में बेची गईं 1,33,296 यूनिट्स से 20.2% अधिक
  • दौलत कैपिटल ने मारुति सुजुकी की सेल्स दिसंबर में सालाना आधार पर 11.40 पर्सेंट बढ़कर 1,48,500 यूनिट रहने का अनुमान दिया था

दिसंबर सीजन में गाड़ियों की खुदरा बिक्री कम रहेगी, दौलत कैपिटल ने यह बात 28 दिसंबर को जारी अपनी रिपोर्ट में कही थी। ब्रोकरेज फर्म ने इसके लिए कम डिस्काउंट, किसानों के आंदोलन और 2021 के नए मॉडल के इंतजार में गाड़ियों की कम खरीदारी जैसी वजहें गिनाई थीं। हालांकि मारुति सुजुकी की बिक्री के आंकड़े उसकी उम्मीदों से बेहतर रहे हैं जिसकी सेल्स उसने दिसंबर में 11.40 पर्सेंट बढ़कर 1,48,500 यूनिट रहने का अनुमान दिया था। देश की सबसे बड़ी कार कंपनी ने दिसंबर 2020 में 1,60,226 गाड़ियां बेचीं जो पिछले दिसंबर में बेची गईं 1,33,296 यूनिट्स से 20.2% अधिक है।

अनुमान से ज्यादा कमजोर रही एम एंड एम की ऑटोमोटिव सेल

एम एंड एम की ऑटोमोटिव सेल दौलत ने दिसंबर 2020 में दो पर्सेंट घटकर 38,450 रहने का अनुमान दिया था लेकिन असल आंकड़े ज्यादा खराब रहे हैं और कंपनी दिसंबर में सिर्फ 35,187 गाड़ियां बेच पाई है। जहां तक वोल्वो आयशर कमर्शियल व्हीकल (VECV) की बात है तो दिसंबर 2020 में इसकी सेल्स सालाना आधार पर 3 पर्सेंट गिरकर 4,892 गाड़ियों पर रही। हालांकि दौलत ने इसकी सेल्स 18.5 पर्सेंट गिरकर 4,000 यूनिट रहने का अनुमान दिया था।

बजाज ऑटो की दिसंबर में सेल्स 4.1 पर्सेंट बढ़ने का अनुमान

दौलत ने बजाज ऑटो की टोटल सेल्स दिसंबर में 4.1 पर्सेंट बढ़कर 3,50,000 यूनिट रहने का अनुमान दिया है। इसके मुताबिक कंपनी के तिपहिया की बिक्री में सालाना आधार पर 28.2 पर्सेंट की गिरावट आ सकती है। लेकिन इसकी मोटरसाइकिलों की बिक्री में लगभग 10 पर्सेंट की अनुमानित बढ़ोतरी टोटल सेल्स को सपोर्ट देगी। टीवीएस मोटर्स के बारे में दौलत का कहना है कि दिसंबर 2020 में कंपनी की सेल्स पिछले साल से 8.4 पर्सेंट ज्यादा रह सकती है।

मीडियम और हेवी कमर्शियल व्हीकल और तिपहिया में रहेगी कमजोरी

जहां तक समूची इंडस्ट्री की बात है तो ब्रोकरेज फर्म निर्मल बंग ने पिछले साल BS-IV मानकों वाली गाड़ियों की डीस्टॉकिंग होने के चलते दिसंबर 2020 में ऑटोमोबाइल कंपनियों की सेल्स ग्रोथ कुल मिलाकर बेहतर रहने का अनुमान दिया है। निर्मल बंग का कहना है कि मीडियम और हेवी कमर्शियल व्हीकल और तिपहिया को छोड़ दें तो कम बेस, कम इनवेंटरी लेवल और लोगों में निजी गाड़ियों की चाहत बढ़ने से ज्यादातर सेगमेंट की होल सेल ग्रोथ भी जबरदस्त रह सकती है। अब तक जारी ऑटो कंपनियों की सेल्स के आंकड़े मोटे तौर पर यही संकेत दे रहे हैं।

पैसेंजर गाड़ियों और ट्रैक्टर की बिक्री को बढ़ावा मिल सकता है

मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के मुताबिक, पैसेंजर गाड़ियों और ट्रैक्टर की इनवेंटरी सामान्य से कम है जिसके चलते ऑटोमोबाइल कंपनियों की तरफ से उसमें बढ़ोतरी किए जाने की पूरी गुंजाइश है। ब्रोकरेज फर्म का कहना है कि त्योहारी सीजन में जो खरीदारी बची रह गई थी, उसके साथ ही कंपनियों की तरफ इनवेंटरी बढ़ाने के चलते भी दिसंबर में पैसेंजर गाड़ियों और ट्रैक्टर की बिक्री को बढ़ावा मिल सकता है।

ऑटोमोबाइल कंपनियों के शेयरों से निवेशकों को बड़ी उम्मीदें

वैसे बीएसई ऑटो 24 मार्च के निचले स्तर से डबल हो चुका है, लेकिन निवेशकों ने ऑटोमोबाइल शेयरों से अब भी बड़ी उम्मीदें लगा रखी हैं। बीएसई ऑटो इंडेक्स दोपहर 1.30 बजे एक पर्सेंट की मजबूती के साथ 21,000 प्वाइंट का आंकड़ा पार कर गया था। कारोबार बंद होने पर यह इंडेक्स 0.84 पर्सेंट की मजबूती के साथ 20,985 प्वाइंट पर रहा। कमर्शियल व्हीकल बनाने वाली दिग्गज कंपनी अशोक लीलैंड का शेयर सबसे ज्यादा 3.7 पर्सेंट 99.00 रुपये पर बंद हुआ।

हीरो मोटो को छोड़ बीएसई ऑटो इंडेक्स के बाकी शेयर मजबूत

देश की सबसे बड़ी ट्रैक्टर कंपनी M&M का शेयर 1.6 पर्सेंट की मजबूती के साथ 732.30 रुपये पर रहा। देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी का शेयर भी लगभग आधा पर्सेंट की मजबूती के साथ 7690 रुपये पर बंद हुआ। देश की सबसे बड़ी दोपहिया कंपनी हीरो मोटो को छोड़कर बीएसई ऑटो इंडेक्स की बाकी ऑटोमोबाइल कंपनियां मजबूती के साथ बंद हुईं।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *